ओवरहेड टैंक बनवाने गए इंजीनियरों और ठेकेदार पर ग्रामीणों का हमला, गाड़ी तोड़ी, कई चोटिल

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स

जिले में शुक्रवार को प्रशासन व ग्रामीणों में संघर्ष हो गया। इस दौरान जल निगम के जेई, एई व ठेकेदार सहित दो दर्जन मजदूर घायल हो गए। इस दौरान ठेकेदार की गाड़ी को ग्रामीणों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। बताया जा रहा है कि पानी की टंकी के निमार्ण कार्य के दौरान दोनों पक्षों में झड़प हुई है।

मामला पथरदेवा ब्लाक के रामपुर धौताल गांव में डेढ़ एकड़ बंजर सरकारी भूमि का है जो कब्रिस्तान के बगल में स्थित है। इस भूमि पर जल निगम की टंकी का निर्माण कार्य होना है, जिससे पूरे गांव के लोगों को पानी सप्लाई किया जाना है।

विगत शनिवार को विभाग के कुछ कर्मचारी व मजदूर रामपुर धौताल गांव पहुंचे और जेसीबी से नींव की खुदाई करने लगे उसके बाद ग्रामीणों ने टंकी निर्माण करने से रोक दिया। इसके बाद शुक्रवार को जब प्रशासन एवं पुलिस अधिकारी टंकी निर्माण कराने पहुंचे।

इसके बाद ग्रामीणों व जल निगम के जेई विवेकानंद, एई रजनीश जायसवाल व ठेकेदार सूरज गुप्ता सहित कार्य कराने गए मजदूरों में संघर्ष शुरू हो गया। दोनों पक्ष एक दूसरे को मारने पीटने लगे, जिसमें कर्मचारी समेत दर्जनों मजदूर घायल हो गए। इस दौरान ठेकेदार की कार को भी ईट पत्थर व लाठी-डंडे से तोड़ दिया गया। किसी तरह से मजदूरों ने भागकर अपनी जान बचाई। तत्पश्चात जल निगम के जेई विवेकानंद ने इसकी सूचना एसडीएम को दी सूचना पाकर तत्काल मौके पर पहुंचे।

एसडीएम सौरभ सिंह व सीओ निष्ठा उपाध्याय ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। घटना स्थल पर तरकुलवा थानाध्यक्ष प्रदीप शर्मा बघौचघाट थानाध्यक्ष नरेंद्र प्रताप राय व महुआडीह थानाध्यक्ष राममोहन सिंह अपने दल बल के साथ गांव में मौजूद रहे। वहीं तरकुलवा पुलिस ने रामपुर धौताल गांव के लगभग एक दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया और बाकी लोगों की तलाश पुलिस कर रही है। वहीं तरकुलवा पुलिस ने घायल मजदूरों को इलाज के लिए सीएचसी तरकुलवा ले गई।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here