ट्रेन यात्री अब नहीं बच पाएंगे कोरोना जांच से, रेलवे जिला प्रशासन को भेजेगा डेटा

विज्ञापन

दवाई भी और कड़ाई भी, इसी थीम पर रेलवे ने कोरोना से लड़ने का खाका तैयार किया है। लखनऊ मंडल के सभी स्टेशनों पर दिल्ली, मुंबई और केरल से आने वाले यात्रियों की कोविड जांच होगी। ट्रेनों में कंफर्म सीट पर सफर करने वाले हर यात्री का नाम, पता व मोबाइल नंबर का ब्योरा रेलवे के पास रहेगा। रेलवे यात्री का विवरण जिला प्रशासन को भेज रहा है। जहां संबंधित जिले के यात्री के घर मेडिकल टीम पहुंचकर कोविड की जांच करेगी। प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी।

गैर राज्यों से लखनऊ आने वाले यात्री बिना जांच कराए निकल जा रहे हैं। ऐसे यात्रियों पर रेलवे और जिला प्रशासन की पूरी नजर है। पूर्वोत्तर रेलवे अपर मंडल रेल प्रबंधक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी ने बताया कि कोविड प्रोटोकाल का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। स्टेशन पर यात्रियों की जांच की पूरी व्यवस्था है। बिना मास्क यात्रियों पर 100 रुपये का जुर्माना लगाया जा रहा है।

गैर राज्यों से यूपी आने वाली दैनिक और साप्ताहिक ट्रेनें

-महाराष्ट्र से 24-यात्री 15 हजार के करीब

-केरल व तमिलनाडु से 07-यात्री 4000 के आसपास

-गुजरात से 07-यात्री 5000 के आसपास

-दिल्ली से 14-यात्री 12 हजार के आसपास

कोविड के दौरान पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल की 71 ट्रेनों में 64 का संचालन चल रहा

कोविड के पहले पूर्वोत्तर रेलवे की 200 ट्रेनों में प्रतिदिन औसतन 176 ट्रेनें चलती थीं
 

विज्ञापन

Multiple Slideshows

विज्ञापन:

विज्ञापन:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here