‘सर मेरी बहन का पेपर है, ट्रेन ढाई घंटे लेट है, प्लीज कुछ करिए ‘

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स


सर, मेरी बहन का बीटीसी का पेपर है, लेकिन जिस ट्रेन में उसका रिजर्वेशन है, वो ढाई घंटे देरी से चल रही है। ऐसे में उसका पेपर छूट सकता है, यह भावुक भरा पोस्ट मऊ के एक युवक ने बुधवार सुबह रेलवे को ट्वीट किया। फिर क्या था, थोड़ी देर में ट्रेन की गति बढ़ गई और जल्द वाराणसी पहुंच गई। जिससे छात्रा समय से कालेज पहुंचकर पेपर दे सकी। इस सराहनीय कार्य के लिए छात्रा और उसके भाई ने रेलवे को रिप्लाई कर धन्यवाद किया है।गाजीपुर जिले की नाजिया तबस्सुम बीटीसी की छात्रा है।

बुधवार को उसके बैक पेपर की परीक्षा वाराणसी के वल्लभ विद्यापीठ बालिका इंटर कालेज में दोपहर 12 बजे से थी। उसने छपरा वाराणसी सिटी एक्सप्रेस (05111) में मऊ से वाराणसी के लिए रिजर्वेशन कराया था। ट्रेन को मऊ जंक्शन पर सुबह 6:25 बजे पहुंचना था, लेकिन वह ढाई घंटे देरी से आई।घबराई छात्रा ने अपने भाई अनवर से ट्रेन के विलंब से पहुंचने की आशंका जताई। जिससे अनवर ने रेलवे को ट्वीट कर ट्रेन नंबर देते हुए दिक्कत बताई। इसका तुरंत संज्ञान लेते हुए रेलवे अफसरों ने ट्रेन की गति बढ़ाकर समय को रिकवर करने के निर्देश दिए। इस पर चालक ने गति बढ़ाकर मऊ से दो घंटे में 11 बजे ट्रेन को वाराणसी स्टेेशन पहुंच दिया।जिससे नाजिया समय से कालेज पहुंचकर परीक्षा दे सकी। पीआरओ अशोक कुमार ने कहा कि यात्रियों की समस्या का निस्तारण करना रेलवे की प्राथमिकता है। जानकारी होते ही छात्रा की दिक्कत का निस्तारण किया गया।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here