स्वास्थ्य मंत्री एव कृषि मंत्री द्वारा बहोर धनौती ग्राम में पीएचसी का भूमि पूजन कर किया गया शिलान्यास


स्वास्थ्य मंत्री ने जिला अस्पताल का निरीक्षण कर इलाज एव वैक्सीनेशन कार्य का लिया जायजा

नगरपालिका में स्थापित वैक्सीनेशन केंद्र का फीता काट कर किया शुभारंभ

बहोर धनौती ग्राम में भूमि पूजन के अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री व कृषि मंत्री द्वारा किया गया बृक्षारोपण

देवरिया (सू0वि0) 16 जून। प्रदेश के चिकित्सा एव स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह आज जनपद में भलुअनी विकासखंड अंतर्गत बहोर धनौती ग्राम में पीएचसी के शिलान्यास एवं भूमि पूजन कार्यक्रम के बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करने पधारने के दौरान उन्होंने जिला चिकित्सालय का निरीक्षण कर वैक्सीनेशन कार्यों का जायजा लिया तथा वार्डो में भ्रमण का दवा इलाज एवं मरीजों के इलाज की हकीकत को जाना। इस दौरान उन्होंने मरीजों से उनके इलाज, स्वास्थ आदि के संबंध में जानकारी की। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि मरीजों के इलाज में किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं होनी चाहिए तथा वैक्सीनेशन कार्य को भी सुचारू रूप से सुनिश्चित किया जाने का निर्देश दिया। उन्होंने नगर पालिका में स्थापित रिक्शा चालकों, पटरी व्यवसायियों के वैक्सीनेशन कार्य का भी शुभारंभ फीता काटकर किया। बहोर धनौती ग्राम में भूमि पूजन के उपरांत उन्होंने कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही के साथ वृक्षारोपण भी किया।


मुख्य अतिथि स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह ने मुख्यमंत्री जी के घोषणा अंतर्गत स्वर्गीय मरजादी देवी पत्नी रामानुज त्रिपाठी की स्मृति में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहोर धनौती का भूमि पूजन कृषि मंत्री श्री शाही के साथ विधिवत मंत्रोचार व पूजन के साथ तथा शिलालेख का अनावरण कर किया।
स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के नियंत्रण के लिए मुख्यमंत्री जी ने टीम 11 एवं टीम 9 का गठन कर एक एक कार्य बिंदुओं की बारीकी से समीक्षा के साथ ही एक एक जनता की जान बचाने की चिंता की। शासन,प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के टीम भाव के कार्यों से इसमें सफलता मिली। लगातार मुख्यमंत्री जी द्वारा नेतृत्व किया गया। दिन रात काम कर कमियों को पूरा किया गया, जिससे इस वैश्विक महामारी का नियंत्रण हो सका है।उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। इससे हमें सतर्क रहने की जरूरत है।


श्री सिंह ने अपील करते हुए कहा कि सभी लोग वैक्सीन लगवाएं तथा वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित भी करें। मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं, तभी इस बीमारी से हम संक्रमित होने से बच सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वैक्सीनेशन ही इस बीमारी से बचाव का सर्वोत्तम उपाय है। उन्होंने कहा कि हम सभी लोग मिलकर स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन का सहयोग करें और कोविड-19 के प्राविधानों का पालन करें।


स्वास्थ्य मंत्री ने इसी क्रम में कहा कि प्रदेश में छोटे बड़े मिलाकर लगभग 24000 स्वास्थ्य केंद्र है। प्रयास है कि सभी केंद्रों पर चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ एवं आवश्यक संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। इसके लिए मुख्यमंत्री जी की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं गांव गांव पहुंचने चाहिए, इसके लिए भी प्राथमिकता से कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी द्वारा 2021 के बजट में स्वास्थ्य सेवाओं को विकसित किए जाने के लिए अधिकाधिक बजट स्वास्थ्य के लिए प्राविधान किया गया है।प्रदेश स्तर पर भी स्वास्थ सेवाओं के लिए बजट की उपलब्धता की गई है। प्रयास है कि जो भी कमियां स्वास्थ्य केंद्रों में है उसे दूर करते हुए संसाधन युक्त किया जाए, जिससे कि लोगों का इलाज समुचित रूप से हो सके। उन्होंने अपील भी करते हुए कहा कि वैक्सीनेशन व कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन अवश्य ही करें।

कृषि मंत्री श्री शाही ने कहा कि कोविड काल में कठिनाइयों को देखा गया है उसे त्वरित रूप से दूर करने का प्रयास किया गया, परिणाम स्वरूप प्रदेश में सबसे कम संक्रमित व क्षति रहा है। इसके साथ ही अन्य क्षेत्रों में चतुर्दिक काम हुआ है। गेहूं क्रय से लेकर कृषि क्षेत्र में ऐतिहासिक कार्य किए गए हैं।गेहूं क्रय की अवधि 22 जून तक मुख्यमंत्री जी द्वारा बढ़ा दी गई है। कृषकों को उनके उपज का सही मूल्य मिले,इसके लिए सरकार कृत संकल्पित है और इस दिशा में कार्य करते हुए गेहूं की सर्वाधिक खरीदारी की गई है। जनपद में 91000 एमटी की खरीदारी अब तक गेहूं की हो चुकी है। उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश को सर्वोत्तम प्रदेश बनाने के लिए हम सभी प्रयासरत हैं।


आयोजित इस भूमि पूजन कार्यक्रम व समारोह में गन्ना विकास उपाध्यक्ष नीरज शाही,बांसगांव सांसद कमलेश पासवान, बरहज विधायक सुरेश तिवारी, भाजपा अध्यक्ष अंतर्यामी सिंह, दीपक शाका,अंगद तिवारी, नरेंद्र मिश्र आदि ने विचार रखते हुए मुख्य अतिथि एवं मा0 मुख्यमंत्री जी के प्रति इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्वीकृति हेतु कृतज्ञता व आभार व्यक्त की गई। मुख्य अतिथि का स्वागत माल्यार्पण के साथ कृषि मंत्री श्री शाही,गन्ना विकास उपाध्यक्ष नीरज शाही, चंद्रभूषण तिवारी, अंगद तिवारी, दीपक मिश्रा शाका, शिवम त्रिपाठी, नरेंद्र मिश्र, प्रमोद सिंह, गंगा शरण पांडेय, प्रदीप तिवारी,संजय सिंह,ओम प्रकाश मिश्र, अखिलेश तिवारी, ग्राम प्रधान रामकृपाल सोनकर, दीनानाथ तिवारी, रामकृपाल शर्मा,दिनेश मणि आदि के द्वारा किया गया।
अंत में आभार पंडित रामानुज त्रिपाठी द्वारा सभी अतिथियों के प्रति व्यक्त की गई।

इस अवसर पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र,एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, सीएमओ डा आलोक पांडेय, उप जिलाधिकारी बरहज संजीव कुमार यादव, रुद्रपुर संजीव उपाध्याय, सदर एसडीएम सौरभ सिंह,डीपीआरओ आनंद प्रकाश,जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल सहित अन्य विभागों के अधिकारी प्रधान संघ के पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश मिश्र, पंडित राज नारायण सहित क्षेत्रीय जन प्रबुद्ध जन आदि उपस्थित रहे।
इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री द्वारा विकास भवन में प्रेस वार्ता की गई। कोविड प्रबंधन एव स्वास्थ्य सेवाओं को विकसित करने की जानकारी उन्होंने दी। इस अवसर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधिक्षक डा श्रीपति मिश्र द्वारा स्वास्थ्य मंत्री एव कृषि मंत्री का स्वागत स्मृति चिन्ह एव बुके भेट कर की गई।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर