सड़क के किनारे अतिक्रमण कर बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाया जाए: सीएम योगी

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स

यूपी सरकार ने गुरुवार को बड़ा फैसला लेते हुए सड़क के किनारे बने अतिक्रमण कर बने सभी धार्मिक स्थालों को हटाने का आदेश दिया है। उत्तर प्रदेश के गह विभाग ने इस संबंध में सभी कमिश्नर और जिलाधिकारियों को आदेश जारी किया है। राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर सड़क के किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को हटाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि सड़क किनारे धार्मिक स्थलों के नाम पर किए गए अतिक्रमण हटाए  जाए। इस मामले पर सभी जिलाधिकारियों से 14 मार्च तक रिपोर्ट भेजनी होगी, जिसमें जिले के अधिकारियों को ये बताना होगा कि आदेश के बाद कितने सार्वजनिक स्थलों को धार्मिक अतिक्रमण से खाली करवाया गया। 

 सीएम योगी ने महाशिवरात्रि पर जलाभिषेक कर की लोक कल्याण की कामना

गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को सम्पूर्ण मानव जाति के कल्याण, उद्धार, समृद्धि एवं शांति के लिए महाशिवरात्रि पर भगवान भोले शंकर का पूजन किया। पीपीगंज के भरोहिया गांव स्थित पितेश्वरनाथ शिव मंदिर में जलाभिषेक और पूजा-अर्चना की। उसके बाद गोरखनाथ मंदिर में रुद्राभिषेक किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को अपराह्न 2.30 बजे पीपीगंज के बापू स्नातकोत्तर महाविद्यालय के मैदान पर हेलीकॉप्टर से उतरे। हेलीपैड से सड़क मार्ग से भरोहिया पीतेश्वरनाथ शिव मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने जलाभिषेक किया। उसके बाद भगवान शिव पार्वती का दर्शन-पूजन किया। फिर गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने मठ में स्थित शक्ति मंदिर में महाद्रव्य से भगवान शिव का रुद्रामहाभिषेक किया। तकरीबन डेढ़ घंटे तक यह अनुष्ठान चला। वेदपाठी बालकों ने मंगल पाठ किया। इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित शिव मंदिर में भी पूजन किया। भगवान नंदी का पूजन कर भगवान शंकर का जलाभिषेक किया। मंगल आरती के साथ मुख्यमंत्री ने लोक कल्याण की कामना की। आखिर में प्रसाद का वितरण हुआ। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक सीएम योगी गोरखनाथ मंदिर में ही रात्रि विश्राम करेंगे। 

200 लोगों से मिले सीएम योगी आदित्यनाथ
पीपीगंज में विद्यालय परिसर में ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तकरीबन 200 स्थानीय नागरिकों से मुलाकात की। इनमें अधिकांश लोग महाशिवरात्रि पर हर बार की तरह उनके दर्शन और आशीर्वाद की आकांक्षा में प्रतीक्षारत थे। गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने बारी-बारी सभी से मुलाकात की और आशीर्वाद दिया।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here