खाद्य तेलों में ट्रांस फैटी एसिड की मात्रा हेतु सर्वे किये जाने तथा खाद्य तेलों में अपमिश्रण को रोकने के क्रम में नमूने किए गए संग्रहित


देवरिया टाइम्स। सहायक आयुक्त (खाद्य)-।। रमेश चंद्र पाण्डेय ने बताया है कि  भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण नई दिल्ली द्वारा खाद्य तेलों में ट्रांस फैटी एसिड की मात्रा हेतु सर्वे किये जाने तथा खाद्य तेलों में  अपमिश्रण को रोकने के क्रम में, आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन उत्तर प्रदेश लखनऊ, द्वारा दिए गए आदेश एवं जिलाधिकारी के निर्देश के  अनुपालन में जनपद में आज  (01 अगस्त 2022 से दिनांक 14 अगस्त 2022 तक चलाए जाने वाले विशेष अभियान हेतु )दो निगरानी नमूने संग्रहित किए गए।


         इस अभियान का प्रमुख उद्देश्य खाद्य तेल में मिलावट की रोकथाम, ट्रांस फैटी एसिड की मात्रा, लेबलिंग प्रावधान और, *Multi-source edible oil के लिए अनिवार्य एगमार्क लाइसेंस* तथा खुले खाद्य तेलों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाना है तथा *देसी उत्पादों या जनपद में ही उत्पादित होने वाले Multi source edible oil  के नमूने प्राथमिकता के आधार पर और यदि जनपद में Multi source edible oil  या वेजिटेबल ऑयल की इकाइयां नहीं है तो अन्य ब्रांड के नमूने लिए जाने हेतु निर्देशित किया गया* है , खाद्य तेलों में ट्रांस फैटी एसिड को पूरी तरह समाप्त किए जाने की प्रक्रिया में यह एक सर्वे प्रक्रिया है और इस आधार पर विभिन्न माध्यमों से उत्पादित खाद्य तेलों की गुणवत्ता प्रबंधन को विनियमित किया जाएगा।  


         उपरोक्त अभियान में आज मुख्य सुरक्षा अधिकारी शिवेंद्र के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा अधिकारी संदीप श्रीवास्तव द्वारा मोहन रोड स्थित सालासर ट्रेडिंग कंपनी से चकमक ब्रांड रिफाइंड राइस ब्रान आयल का नमूना संग्रहित किया गया तथा मोहन रोड से  ही दूसरी  विक्रेताफर्म राम बहादुर विनोद कुमार  से डायमंड ब्रांड  रिफाइंड पाम आयल का नमूना संग्रहित कर विशेष प्रयोगशाला को भेजा गया।


     इस अभियान में प्रत्येक खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा दो नमूने लिए जाने हैं उपरोक्त अभियान 14 अगस्त तक चलेगा।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर