मनरेगा के कार्यो को पूरी प्राथमिकता के साथ सभी ग्राम पंचायतो में हो संचालित


देवरिया टाइम्स। जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने गूगल मीट के माध्यम से मनरेगा योजना की समीक्षा बैठक के दौरान सभी बीडीओ, एडीओ पंचायत, एपीओ, डीपीआरओ सहित अन्य जुडे सभी अधिकारियों को आगाह करते हुए कहा है कि यदि उनके आलस्य मिलीभगत, अकर्मण्यता से सरकारी पैसे का अपव्यय व दुरुपयोग होगा तो उन्हे कतई बख्शा नही जायेगा। ऐसे लोगो पर कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। इसलिये वे पूरे मनोयोग एवं नियमो के अन्तर्गत कार्य करें और किसी प्रकार का कोई दुरुपयोग न हो इस पर प्रभावी नियंत्रण रखें। यदि इसमें कोई सुधार नही पाया जायेगा तो अगली बार मुकदमा लिखवाये जाने के साथ ही रिकवरी व जेल भेजने की कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी श्री सिंह मनरेगा कार्यो की इस समीक्षा में 07 विकास खण्डों के 31 ग्राम पंचायतो में कार्य नही चलने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। ऐसे लापरवाह जिनके द्वारा कार्य प्रारम्भ नही हो पाया है, उनकी जिम्मेदारी तय कर कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। भटनी विकास खंड के 08 ग्राम पंचायतो में मनरेगा से कार्य अनारम्भ पाया गया। इसके लिए जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी शकिल अख्तर को फटकार लगायी तथा एपीओ मन्जू कुशवाहा से इसके कारणो के संबंध में जानकारी लिए, उन पर भी नराजगी व्यक्त कर कार्यो में सुधार लाये जाने तथा खण्ड विकास अधिकारी को इन पर कार्यवाही प्रस्तावित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने खण्ड विकास क्षेत्र भागलपुर के 7 गांवो में मनरेगा का कार्य अनारम्भ मिला, बताया गया कि एपीओ द्वारा डिमाण्ड नही प्रस्तुत किया गया है, इस पर उन्होने उनके विरुद्ध भी कार्यवाही किये जाने को कहा। सलेमपुर के 05 ग्राम पंचायतो में कार्य नही होना पाया गया, जिस पर भी उन्होने कडी नाराजगी व्यक्त की और संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने सामुदायिक शौचालयों को समुचित रुप से संचालित होने के उपरान्त ही भुगतान आदि की कार्यवाही किये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी दशा में असंचालन की सिथति में मानदेय आदि का भुगतान कदापि नही होना चाहिये। यदि ऐसा होता हुआ पाया जायेगा तो संबंधित पंचायत सचिव व अन्य जुडे कर्मियों की जिम्मेदारी तय करते हुए उनके विरुद्ध भी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने सभी खण्ड विकास अधिकारियों, जिलर पंचायत राज अधिकारी को इसका प्रभावी अनुश्रण किये जाने व नियंत्रण रखे जाने के निर्देश दिये।
मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिन पैरामिटरो में प्रगति अपेक्षित नही है, उसमें सुधार लाये, अन्यथा कडी कार्यवाही होगी।
इस बैठक में डीसी मनरेगा बीएस राय, डीपीआरओ अविनाश कुमार, खण्ड विकास अधिकारी गण, एडीओ पंचायत, एपीओ व अन्य संबंधित अधिकारी, कर्मचारी आदि जुडे रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर