डीएम ने सेमरौना में चार कार्य परियोजनाओं का किया औचक निरीक्षण,कराई जांच


देवरिया टाइम्स।

डीएम जितेंद्र प्रताप सिंह शनिवार को पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा के साथ सेमरौना में चार कार्य परियोजनाओं का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान खामियां मिलने पर अधिकारियों को चेतावनी दी। तीन सदस्यीय तकनीकी टीम से जांच कराने का आदेश दे दिया। टीम ने जांच की। जांच में गड़बड़ी पाई गई है। टीम के रिपोर्ट देने के बाद दोषी लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

डीएम ने सेमरौना में राष्ट्रीय ग्राम स्वराज योजना के तहत बनाए गए पंचायत भवन का निरीक्षण किया। आठ कमरों की जगह यहां केवल चार कमरे बनाए पाए गए। साथ ही उसकी गुणवत्ता भी काफी खराब रही। कमरों की खिड़कियां भी गड़बड़ दिखी। आंगनबाड़ी केंद्र का भी निरीक्षण किया। इस दौरान निर्माण कार्य में गुणवत्ता की काफी कमी पाई गई। फर्श टूटे-फूटे व शौचालय नहीं बने हुए पाए गए। स्थापित इंडिया मार्क हैंडपंप की कच्ची नाली पाई गई। परिसर में गंदगी का अंबार मिला। सचिव शिशिर कुमार को डीएम ने चेतावनी दी। अंत्येष्टि स्थल के निरीक्षण में 25 लाख रुपये खर्च करने के बाद भी स्थिति खराब पाए जाने पर डीएम ने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि शव को जलाने वाले स्थान में भी लूटपाट की गई है। शौचालय ध्वस्त पड़ा है एवं टीनशेड टूट गया है। डीएम ने इन कार्यों की जांच के लिए अधिशासी अधिकारी सिचाई दुर्गेश कुमार, डीपीआरओ अविनाश कुमार, सहायक अभियंता आरइडी स्वेता मौर्या का कमेटी गठित कर दिया। साथ ही शाम तक रिपोर्ट मांगी है। तकनीकी टीम की जांच में भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पाई गई है। मामले में दोषी लोगों पर मुकदमा दर्ज कराने व निलंबन करने का भी डीएम ने आदेश दिया है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर