सोशल सेक्टर की योजनाओं में अधिकारी बरतें पूरी तत्परता

सत्यापन हेतु लम्बित प्रकरणों का दो दिन के अन्दर करें निस्तारण

माता-पिता वरिष्ठ नागरिको के भरण पोषण कल्याण नियमावली में जन जागरुकता की आवश्यकता

करायें व्यापक प्रचार-प्रसार, आयोजित करें गूगल मीट के माध्यम से कार्यशाला-डीएम

देवरिया (सू0वि0) 30 जून। सोशल सेक्टर की संचालित योजनाओं से जुडे सभी अधिकारी/विभाग इसके क्रियान्वयन में पूरी रुचि, तन्मयता दर्शित करते हुए इसका लाभ पात्रो तक अनिवार्य रुप से पहुॅचायें, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता/विलम्ब कदापि नही होनी चाहिये।
उक्त आशय के निर्देश जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन गूगल मीट के माध्यम से सोशल सेक्टर की समीक्षा द्वारा दिये। उन्होने उत्तर प्रदेश माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों को भरण-पोषण तथा कल्याण नियमावली 2014 के प्रति जन जागरुकता पर बल देते हुए कहा कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित हो, इसके लिये तहसीलो पर सुलह अधिकारी व एडवोकेट गणो की एक कार्यशाला शुरु की जाये, जिसके माध्मय से लोगो तक यह योजना पहुॅचेगी। उन्होने कहा कि वास्तव में यह योजना वृद्ध, बुजूर्गो को उपेक्षा से बचाते हुए उन्हे भरण पोषण की सुविधायें उपलब्ध कराये जाने में काफी अहम है। इसमें सभी का समन्वय अत्यन्त ही आवश्यक है।
जिलाधिकारी ने समीक्षा के दौरान सभी खंड विकास अधिकारियों एवं उप जिलाधिकाारियों को वृद्धा अवस्था के लम्बित आवेदन पत्रो, नये पेंशन की स्वीकृति, परिवारिक लाभ योजना के लम्बित प्रकरणों का सत्यापन दो दिन के अन्दर हर हाल में किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होने अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम की संचालित योजना पं0दीन दयाल उपाध्याय स्वरोगजार योजना की समीक्षा की। बताया गया कि इसके तहत 1200 का लक्ष्य आवंटित हुआ है। जिलाधिकारी ने इस लक्ष्य को और अधिक बढाये जाने के लिये कहा। यह वास्तव में अत्यन्त जरुरतमंदो के लिये काफी उपयोगी योजना है। इसके तहत लाउण्ड्री/ड्रायक्लिन स्थापित कर स्वरोजगार व स्वालम्बित हुआ जा सकता है। आशा योजना के किसी भी विकास खंड से सूची नही मिलने की बात रखी गयी, जिस पर उन्होने मुख्य विकास अधिकारी को इसका अनुश्रवण किये जाने को कहा।
जिलाधिकारी ने अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में शिक्षा स्वास्थ्य आदि कार्यक्रमों को बढावा देने के लिये संचालित प्रधानमंत्री जन विकास योजना की भी गहन समीक्षा की। इस दौरान ऐसे क्षेत्रों में इस कार्यक्रमों से जुडे 63 कार्य स्वीकृतियां प्रदान की गयी। उपस्थित जन प्रतिनिधियों का सुझाव भी लिया गया। जिलाधिकारी ने इस योजना के तहत कराये जाने वाले कार्यो को समयबद्धता के साथ सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को दिया।
इस बैठक में सीडीओ शिव शरणप्पा जी एन, जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, पीडी संजय पाण्डेय, समाज कल्याण अधिकारी/अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी नीरज अग्रवाल, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह,एसडीएम सदर सौरभ सिंह, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, सलेमपुर ओम प्रकाश, भाटपाररानी ध्रुव कुमार शुक्ला, एसडीएम बरहज, एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह के प्रतिनिधि राजू मणि, ओकेएम इंटर कालेज के प्रधानाचार्य शमी उल्लाह, सहित सभी खंड विकास अधिकारी गण आदि जुडे रहे।
प्रचारित प्रसारित द्वारा सूचना विभाग देवरिया

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर