लॉकडाउन फसे रह तीन बेटे,बहु ने निभाया फर्ज ,सास को दी मुखाग्नि

विज्ञापन

जिले में लार थाना क्षेत्र के तिलोली गाव में इलाज के दौरान एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। उसके तीन बेटे थे लेकिन वे बाहर कमाने गए हुए हैं। लॉकडाउन की वजह से वह अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके। मौके पर बहू ने चिता को मुखाग्नि दी तो मौजूद लोगों के आंखों में आंसू छलक पड़ें।
तिलौली गांव की चंद्रशेखर की पत्नी नीतू देवी अपनी सास सुमित्रा देवी व तीन बच्चों को सेलमपुर के सोहनाग रोड स्थित एक किराये के मकान में रहती हैं।शुक्रवार को उनकी सास सुमित्रा देवी (70) की तबीयत अचानक खराब हो गई। आसपास के लोगों की मदद से नीतू ने उन्हें एंबुलेंस से सीएचसी पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।इसकी सूचना उसने अपने परिवार के लोगों को दी। उसके पास कोई साधन नहीं था कि अपनी सास का शव ले जाकर अंतिम संस्कार करा सकें। उसने अपने पति चंद्रशेखर को बताया तो उन्होंने नीतू से फोन पर कहा कि लॉकडाउन के चलते आसानी से घर नहीं पहुंच सकते। यह बात कह तीनों बेटों ने मां का अंतिम संस्कार करा देने की बात कही।
परेशान हाल में नीतू एक मासूम को लेकर शुक्रवार की सुबह करीब 11 बजे नगर पंचायत कार्यालय पहुंची। बोली- चेयरमैन साहब मैं नीतू हूं। मेरी सास का सलेमपुर अस्पताल में मौत हो गई है। लॉकडाउन के चलते कोई साधन नहीं मिल रहा हैं, प्लीज मेरे घर उन्हें किसी साधन से भेजवा दीजिए, जो पैसा लगेगा मैं दूंगी। मेरे परिवार के सभी लोग बाहर हैं।उन्होंने लॉकडाउन के चलते कोई आ नहीं पा रहा है। मैं बहुत परेशान हूं। महिला की गुहार को सुन चेयरमैन जेपी मद्देशिया ने तत्काल प्रभाव से एक निजी वाहन कर उनकी सास के शव को नदावर घाट पर पहुंचाया।
देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 8318183628 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here