फसलो की नुकसान का मुआवजा त्वरित रुप में उपलब्ध करायें- मंत्री श्री राजभर

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के मंत्री श्री अनिल राजभर एवं राज्यमंत्री जलशक्ति विभाग श्री बलदेव सिंह ओलख द्वारा पुलिस लाइन सभागार देवरिया में विभागीय अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ बाढ की स्थिति एवं बाढ पीड़ित परिवारों को उपलब्ध कराई जा रही सहायता की समीक्षा की गयी तथा आवश्यक निर्देश दिये गये।


पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री श्री राजभर ने इस दौरान तटबंधो पर 24 घण्टे पेट्रोलिंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि बंधों की संवेदनशीलता के दृष्टिगत अति सर्तकता बरतने की जरुरत है। उन्होने पेट्रोलिंग एवं विधुत एवं जनरेटर की व्यवस्था भी संवेदनशील बंधो पर बनाये रखने के साथ ही सभी एहतियाती उपायो को अपनाये जाने के निर्देश भी दियें। उन्होने कहा कि बाढ की स्थिति से उत्पन्न समस्या से निपटने के लिये सरकार पूरी तरह से संवेदनशील है। मा0 मुख्यमंत्री जी स्वंय बाढ़ की स्थिति की माॅनीटरिंग कर रहे है। उनके निर्देश क्रम में चार जनपदों के भ्रमण कार्यक्रम पर आयें। उन्होंने बताया कि नेपाल द्वारा 04 लाख 12 हजार क्यूसेक पानी छोड़ने से थोड़ी सी समस्या आयी है, इससे निपटने के लिये सभी को सर्तक रहने की जरुरत है। उन्होंने बताया कि बाढ से किसानों की फसल का जो नुकसान हुआ है उसका मुआवजा देने के लिए सरकार कटिबद्ध है। उन्होंने निर्देश दिया कि चारों तरफ पानी से घिरे गांव में राहत सामग्री, स्वास्थ्य सुविधाएं तथा पशुओं का चारा उपलब्ध कराने की व्यवस्था कराई जाए। लोगों के इलाज के लिए मेडिकल टीम भेजी जाए, बाढ़ प्रभावित गांव में सतर्क निगाह रखी जाए। बाढ़ प्रभावित इलाकों में एन0डी0आर0एफ0 एवं एस0डी0आर0एफ0 की टीमें एवं सरकारी आमला प्रभावित क्षेत्र में अपने कार्यो के प्रति तत्पर है। बाढ प्रभावित क्षेत्रों में नावों की भरपूर व्यवस्था रखी जाये।


मंत्री श्री राजभर ने कहा कि एन0डी0आर0एफ0 द्वारा होमगार्ड, पी0आर0डी0 के जवानो को भी प्रशिक्षित किया गया है, एन0डी0आर0एफ सहित प्रशिक्षिको की सूची पुलिस अधीक्षक मंगा ले तथा उन्हे हर आवश्यकता के लिये तत्पर रहने के लिये निर्देशित करने को कहा।
जिलाधिकारी अमित किशोर द्वारा बाढ प्रबंधन की तैयारियों का विस्तृत जानकारी देते हुए बताया गया कि जनपद के विशुनपुर देवार, परसिया देवार व भदिला देवार तथा कटइलवा मैरुंड गांव है। विशुनपुर एवं परसिया देवार सरयू नदी के उस पार जो जनपद मऊ की सीमा से जुडा हुआ है। यदि इन गांवो को जनपद मऊ में सम्मिलित कर दिया जाये तो प्रशासनिक दृष्टिकोण से काफी सुगम होगा। इस पर अपर प्रमुख सचिव सिचाईं एवं जलशक्ति टी0वेंकटेश ने कहा कि यदि राजस्व विभाग को प्रस्तावित किया गया हो तो उसकी काॅपी उपलब्ध कराया जाये, ताकि शासन स्तर पर इसके लिये पहल किया जा सके।
मंत्री द्वय द्वारा रुद्रपुर एवं बरहज तहसील के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया गया तथा बैठक उपरान्त बाढ राहत खाद्यान्न किट प्रभावितों में वितरित किया गया।
बैठक में, विधायक सलेमुपर काली प्रसाद एवं सदर विधायक जन्मेजय सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष अन्तर्यामी सिंह द्वारा बाढ से जुडे समस्याओं से अवगत कराया गया।


इस दौरान अपर मुख्य सचिव सिंचाई टी वेंकटेश, पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र, ए0डी0एम0 एफ0आर0 उमेश कुमार मंगला, अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल सिंह, सी0एम0ओ0 डा0आलोक पाण्डेय, सी0वी0ओ0 डा0 विकास साठे, अधिशासी अभियंता बाढ, उप जिलाधिकारी सदर दिनेश कुमार मिश्र, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, बरहज सुनील कुमार सिंह, सलेमपुर ओम प्रकाश, क्षेत्राधिकारी निष्ठा उपाध्याय, एम0एल0सी0 प्रतिनिधि राजू मणि, अंगद तिवारी, संजय सिंह, अम्बिकेश पाण्डेय, अजय शाही सहित अन्य जन प्रतिनिधि व संबंधित विभागो के अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here