वैश्विक महामारी कोरोना में योद्धाओं के रूप में कार्य कर रहे हमारे लेखपाल

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में कोरोना वारियर्स की कमी नही है एक तबका ऐसे काम कर रहा है कि असल मे कहे तो वो गरीब ,असहाय एवं निराश्रित लोगो के जीवन जीने की व्यवस्था में लगे है । ऐसे जिले के लेखपाल जो इतनी बारीक रूप से शासन को अपने स्तर से सहयोग कर रहे है जिन्हें योगदान अहम है और ना ही ऐसे लोगो को हम भूल सकते । इनके कार्यो के कुछ विशेष निम्न है जो काफी महत्वपूर्ण है-

1-लेखपालो ने अपने हलके में 12जनवरी2020 के बाद दूसरे राज्यों अथवा देशों से आने वाले लोगों का सर्वे कर उनका डाटा प्रशासन को उपलब्ध कराया गया।

2-दूसरे राज्यों/जनपदों से पलायन कर आए मजदूरों को बार्डर पर रोक कर उनकी स्क्रीनिंग चिकित्सा स्टाफ से कराकर पूरे विवरण के साथ कोराईन सेंटर पर ले जाकर कोरेंटाई कराया।

3-अपने क्षेत्रों में संक्रमित व्यक्ति की जानकारी कर उन्हें व उनके सम्पर्क में आई चेन का डाटा तैयार कर उन्हें भी कोरेंटाईन सेंटर पर भर्ती कराया गया।

3-कोटा आदि स्थानों से आए छात्रों को अपने जनपद में रिसीव कर उनके ठहरने की व्यवस्था एवं चिकित्सा जांच की व्यवस्था कराई गई।

4-हाटस्पाट क्षेत्रों में प्रशासनिक ड्यूटी में रात दिन शिफ्टों में ड्यूटी लेखपाल कर रहे हैं।

5-कोरोना स्क्रीनिंग के लिए तैयारपी एच सी,सी एच सी पर चिकित्सा स्टाफ के साथ ड्यूटी पर तैनात है।

6-कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए चयनित मेडिकल कॉलेज/अस्पतालों में शिफ्टवार 24 घंटे लेखपालों की ड्यूटी लगाई गई है।

7-आश्रय स्थलों पर व्यवस्था देखने के लिए 24 घंटे लेखपालों की ड्यूटी लगाई गई है।

8- सामुदायिक किचन की व्यवस्था में और भोजन आश्रय स्थलों/कोराईन सेंटर पर भर्ती संक्रमण संदिग्धों को उपलब्ध कराने में लेखपालों की ड्यूटी लगाई गई है

9-टोलफ्री काल अथवा किसी भी प्रशासनिक अधिकारियों को मिली सूचना के आधार पर लोगों को कच्चा राशन सामग्री पैकेट, एवं पक्का भोजन आवश्यकता अनुसार पहुंचाने में लेखपालों की ड्यूटी लगाई गई है। जिसे लेखपाल द्वारा स्वीगी और जोमैटो से तेज सेवा दी गई ।

10-लेखपाल हल्के में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता प्रशासन द्वारा निर्धारित उचित मूल्य पर सुनिश्चित कराने की ड्यूटी क्षेत्रीय लेखपाल की है।

11-सार्वजनिक वितरण की दुकानों पर समस्त पंजीकृत श्रमिकों एवं राशन कार्ड धारकों को सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करते हुए ईमानदारी पूर्वक राशन वितरण सुनिश्चित करने के लिए नोडल अधिकारी के रूप में ड्यूटी।

12-जिन लोगों के राशन कार्ड नहीं बनें थे उनकी सूची तैयार कर प्रशासन को उपलब्ध कराई जिससे कोई भी जरूरत मंद राशन से वंचित न रहे।

13- ऐसे श्रमिक जिनका पंजीकरण नहीं है और लोकडाउन के कारण उनके रेड्डी,ठेली, फेरी,खोमचा,बेलदारी आदि दैनिक रोजगार बंद हो गया है उनका डाटा तैयार कर प्रशासन को दिया गया जिससे उन्हें शासन की ओर से घोषित आर्थिक मदद दी जा सके।

14-अपने अपने ग्रामीण क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं कोरोनावायरस से बचाव के उपायों का प्रचार-प्रसार।

15-अपने हल्के के लोगों से “आरोग्य सेतु एप” डाउनलोड कराना एवं उसके सम्बन्ध में जानकारी देने का कार्य भी लेखपालों द्वारा किया जा रहा है।

कोरोना योद्धाओं का योगदान देवरिया जिला के लिए सम्मान के साथ हमेशा गर्व रहेगा–!

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here