केवल हमारी नहीं आरटीओ की भी जिम्मेदारी: खनन अधिकारी


देवरिया टाइम्स। बिहार से उत्तर प्रदेश में मेहरौना के रास्ते प्रतिदिन 50 से ऊपर बालू के ट्रक आते हैं ।इन ट्रकों में ज्यादातर ओवरलोड और अवैध रूप से यूपी में लाये जाते हैं। मेहरौना, ऊकिना और सुतावर में इन ट्रकों का जमघट लगता है। बालू तस्कर खनन विभाग की मिली भगत से बिहार से आये इन बालू लदे ट्रकों को जरूरतमंदों तक पहुंचाने का कार्य करते हैं। बालू तस्करी के इस कार्य से राजस्व की क्षति हो रही है। मेहरौना बॉर्डर पर एक पुलिस चौकी है, लेकिन पुलिस वालों का कहना है कि हमें बालू रोकने का कोई अधिकार नहीं है।

यह ओवरलोड वाहन ऊकिना स्थित एक ढाबा पर एकत्रित होते हैं और बालू तस्करों द्वारा इन्हें मनमाफिक जगहों पर डील करके भेजवाया जाता है । जिले में खनन विभाग के अधिकारी लोग बैठते हैं लेकिन उन्हें इसकी फुर्सत नहीं। बिहार बॉर्डर पर बालू तस्करी का जो खेल हो रहा है उसकी शिकायत ट्विटर के माध्यम से जिलाधिकारी सहित कई लोगों को कुछ समाजसेवियों ने की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
इस संबंध में खनन अधिकारी जितेंद्र शर्मा से उनका पक्ष जानने के लिए बात की गई तो उन्होंने कहा कि आरटीओ की भी जिम्मेदारी बनती है ।केवल हम इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर