न्यायाधीश ने जिला अस्पताल और कोविड-19 अस्पताल का किया निरीक्षण

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश शिवेंद्र कुमार मिश्र द्वारा जिला अस्पताल में  स्थापित कोविड-19 अस्पताल का वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव एवं जनजागरूकता हेतु साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल,खान-पान, तथा रहन-सहन का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान न्यायाधीश शिवेंद्र कुमार मिश्र ने कोरोना 100 शैया मैटर्निटी विंग जिला महिला चिकित्सालय में स्थापित कोविड-19 अस्पताल के निरीक्षण के दौरान वहां साफ सफाई नही हुई थी, वहां 04 कर्मचारी उपस्थित मिले जिनके द्वारा मास्क प्रयोग नही किया गया था, जो बिना पद ड्रेस में मिलें।

कोरेन्टाईन वार्ड की केयरटेकर श्री राजेन्द्र सिंह को कोरेन्टाईन वार्ड के कर्मचारियों, को मास्क, सफाई और ड्रेस पहने के लियें निर्देश दिये गये। साथ ही साथ जिला चिकित्सालय में बिना मास्क लगायें घुम रहे एम्बुलेन्स डाइवर, मजदूर एवं अन्य को मौके पर ही मास्क लगवाया।

निरीक्षण के क्रम में न्यायाधीश द्वारा सेन्ट्रल एकेडमी में स्थापित कोविड-19 अस्पताल का निरीक्षण किया। जिसमे  51 कोरोना मरीज भर्ती थे। जिन्हे साफ-सफाई, दवा, भोजन, पेयजल की समुचित व्यवस्था करने का निर्देश प्रभारी डा0 संजय चन्द्र को दिया। साथ ही साथ वहां मेहनत कर रहे डाक्टर एवं  समस्त मेडिकल स्टाफ हौशला अफजाई करते हुये,उनको प्रोत्साहित किया।

उक्त के क्रम में न्यायाधी शिवेंद्र मिश्र द्वारा कोविड-एल2 का निरीक्षण किया गया जिसमे डा0 आलोक गुप्ता, स्टाफ नर्स कादमबनी, वार्ड ब्वाय साकेत मिश्रा उपस्थित थे, उनका हौशला अफजाई किया, उन्हे कोरोना मरीजो को अच्छे देख-भाल करने एवं साफ सफाई का ध्यान रखने का निर्देश दिया। वैश्विक महामारी कोरोना में कोरोना योद्धा के रूप में अपना योगदान देने वाले सभी डाक्टरो  का उत्साहवर्द्धन किया। तत्पश्चात न्यायाधीश शिवेंद्र कुमार मिश्र द्वारा जिला अस्पताल के ब्लड बैंक का निरीक्षण किया गया। जिसमे  एल0टी0 श्री तेज भान द्वारा बतया गया कि 08 यूनिट  नान इश्यू  ब्लड एवं 02 यूनिट इश्यू ब्लड बैंक में  है। न्यायाधीश ने ब्लड बैंक का जायजा लेते  हुये मौके पर ब्लड रखने का इंतजाम, ब्लड डोनेट करने वाले लोगों की सुविधा व संसाधनों  की व्यवस्था हेतु निर्देशित किया। उन्होंने  कहा कि भारत युवाओ  का देश है, युवाओ को किसी भी प्रकार के नशा से दूर  रहना चाहिये, इस कोरोना काल में  जरूरत मंदों की सेवा करना चाहिये एवं  स्वैच्छिक रक्तदान करना चाहियें। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लगातार व्यापक स्तर पर स्वैच्छिक रक्तदान आयोजित  करने हेतु जनजागरूकता करता रहा हैं। उक्त के क्रम में  कोरोना  योद्धा स्वर्गीय डा0 राजीव रंजन के स्मृति में रक्तदान शिविर का भव्य आयोजन  किया जायेगा।

जो  उनकी सच्ची श्रधांजलि होगी। न्यायाधीश मिश्र ने बताया कि रक्तदान के माध्यम से सड़क दुर्घटना में  घायल व्यक्ति, ब्लड कैंसर, कुपोषण, ऑपरेशन  के दौरान होने वाले  रक्तस्राव से पीड़ित  एवं जरुरतमंदो की सहायता किया जाता है, रक्त का दुरूपयोग  करना एक दण्डनीय अपराध है, किसी भी पिड़ित के माध्यम से दुरूपयोग की सूचना मिलने पर सम्बन्धित अधिकारी कर्मचारी को विधिक कार्यवाही किया जायेगा। स्वैच्छिक रक्तदान एक सुरक्षित व स्वस्थ परम्परा  हैं, जितना रक्त आप देंगे वह रक्त फिर से 21 दिन में  शरीर बना लेता हैं। अन्त में  नोडल अधिकारी डा0 संजय चन्द्र कोरेन्टाईन वार्ड का साफ-सफाई, कर्मचारियों को मास्क लगाने, मरीजों के इलाज, भोजन -पानी इत्यादि के व्यवस्था करने एवं मशीन के द्वारा ज्यादा से ज्यादा कोरोना जाँच  के निर्देश दिये। उपस्थित डाक्टर को सुरक्षित रहने एवं मास्क लगाने, हमेशा  स्नेटाईजर का उपयोग करने हेतु कहा। उन्होंने  बताया कि सितम्बर माह पोषण का माह होता है जिसमे  गर्भवती महिलाओ  एवं बच्चों कोपोषण दिया जाना सुनिश्चित किया जायें। न्यायाधीश ने बाहर घुम रहे विकलांग मरीज का े देखकर सी0एम0एस0 का े निर्देश दिया कि फौरन इस मरीज को वार्ड म ें भर्ती कर इलाज कराव ें। न्यायाधीश मिश्र ने कहा कि अस्पताल म ें जो भी कोरा ेना संक्रमित मरीज आ रहे है उन्हे सरकार द्वारा उपलब्ध सारी सुविधायें उपलब्ध कराया जाये तथा उनको समझाया जाए  की डरना एवं घबराना नही है, लड़ना  है और जीतना है। उक्त कार्यक्रम में सी0एम0एस0 डा0 छोटेलाल, डा0 संजय चन्द्र, डा0 अलोक गुप्ता, एल0टी0 तेज भान, राजेन्द्र सिंह, रणजीत कुमार,विनोद कुशवाहा, हरेराम मद्धेशिया, चितर ंजन बरनवाल मजहर अली आदि उपस्थित थे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here