विद्या की अधिष्ठात्री मां सरस्वती का हुआ पूजन


देवरिया टाइम्स।

नेशनल पब्लिक स्कूल देवरिया मे बसंत पंचमी के पावन अवसर पर विद्यालय की प्रधानाचार्य श्रीमती ज्योति लक्ष्मी ए द्वारा विधि विधान से माँ सरस्वती का पूजन वंदन आचार्य पंचानन तिवारी के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ।


इसके बाद प्रधानाचार्या श्रीमती ज्योति लक्ष्मी जी ने माँ सरस्वती के स्वरूप का वर्णन करते हुए बताया की
सरस का अर्थ होता है जल, अथार्त् ज्ञान का प्रवाह, देवी के हाथो में वीणा शुशोभित हैं, वीणा में चार सुर के तार होते हैं, ऊपर के तीन तार कमशः सत्व गुण, रजो गुण और तमो गुण का प्रतीक होते हैं, और इन तीनो के नीचे चौथ तार जो की श्रद्धा का धोतक है।
देवी का वर्ण श्वेत है, आसन, वस्त्र आभूषण भी श्वेत हैं, देवी का वाहन हँस भी श्वेत हैं जिसका स्वभाव हैं ज्ञान से अज्ञानता को दूर करना। इस अवसर पर बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
इसके पश्चात् प्रसाद वितरण का कार्यक्रम सम्पन हुआ।


इस कार्यक्रम में विद्यालय के प्रबंध निदेशक श्री संजय शंकर मिश्र, प्रबन्धक श्री राजीव शंकर मिश्र, बी डी मिश्र, बिपिन चंद गुप्त,अम्बिका दत्त पाण्डेय , अमित विश्वकर्मा,जनार्दन
तिवारी, खुशबू जायसवाल, पल्लवी जायसवाल, मनीष तिवारी, रानी चौरसिया, जेनिन पी. एम., विकास सोनी, अंकिता अग्रवाल, शिखा मिश्रा, प्रतीक्षा मणि, प्रतिभा, शकुन्तला मिश्रा, सरिता मिश्रा,अंशु श्रीवास्तव, निहिता, अनुराधा, कृति, संध्या, बृजेश तिवारी, रजत, अश्वनी ओझा, ईश्वर चन्द, नेहा, अंजली, सुरेखा एवं अभिभावकगण उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर