धूमधाम से मनी महाराजा सुहेलदेव की जयंती

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

देवरिया-बसंत पंचमी के अवसर पर महाराजा सुहेलदेव जयंती समारोह का आयोजन जनपद में पूरी भव्यता के साथ किया गया। सभी शहीद स्मारकों व स्थलों एवं शहीदों के प्रतिमाओं पर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। जगह-जगह महाराजा सुहेलदेव के संघर्षो, शौर्य एवं वीरता पर आधारित कार्यक्रम आयोजित किये गये।


         रामलीला मैदान स्थित शहीद स्मारक पर जिलाधिकारी अमित किशोर, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, एसडीएम सदर सौरभ सिंह सहित अन्य अधिकारियों द्वारा श्रद्धासुमन अर्पित किया गया।


         टाउन हाल आडिटोरियम में भव्य एवं वृहद समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान पूर्वाह्न 11 बजे चित्तौरा, बहराइच से  प्रधानमंत्री जी द्वारा  महाराजा सुहेलदेव जी के स्मारक का शिलान्यास, उनके सम्बोधन तथा मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के उद्बोधन का सजीव प्रसारण वेबलिंक के माध्यम से किया गया। जनपद में अन्य जगहों पर भी आयोजित हुए कार्यक्रमों में इस कार्यक्रम का सजीव प्रसारण हुआ, जिसे उपस्थित जनो द्वारा देखा गया।


        टाउनहाल में महाराजा सुहेलदेव जी के शौर्य एवं बलिदान पर आधारित ‘‘गौरवगीत’’ के गायन एवं चलचित्र के साथ मा0 प्रधानमंत्री जी एवं मा0 मुख्यमंत्री जी का वर्चुअल उद्बोधन के सजीव प्रसारण को जिलाधिकारी अमित किशोर, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह, सांसद प्रतिनिधि रविन्द्र प्रताप मल्ल, सदर विधायक प्रतिनिधि अरविन्द कुमार सिंह सहित स्कूली छात्र एवं छात्राओं, एनसीसी कैडेट आदि उपस्थित रह कर इस कार्यक्रम से जुडे। इसके उपरान्त जिलाधिकारी सहित सभी अतिथियों द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रघुवंश मिश्र, कालिन्दी पाल एवं अमर शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी के परिजन बृजेश प्रजापति को अंगवस्त्र, पुष्पगुच्छ प्रदान कर उन्हे सम्मानित किया गया।      


       इसके उपरान्त  उपरान्त जिलाधिकारी अमित किशोर ने महाराजा सुहेलदेव के जीवन आदर्शो, संघर्षो पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारतवर्ष के इतिहास में मध्यकाल में 11वीं शदी में उत्तर प्रदेश के बहराइच में महाराज सुहेलदेव एक प्रतापी राजा हुये, जिन्होंने विदेशी आकान्ताओं से भारतीय संस्कृति एवं विरासत की रक्षा की महाराजा सुहेलदेव जी का शौर्य एवं पराक्रम वर्तमान पीढ़ी के लिए एक गौरवशाली उदाहरण है। उनका संघर्ष बीरता व पराक्रम तथा देश के प्रति प्रेम हम सभी के लिये प्रेरणादायी है। हमे उनके संघर्षो से सीख लेनी चाहिये।  
       पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र ने कहा कि महाराजा सुहेलदेव जी की जयंती मनाये जाने के पीछे मुख्य उद्देश्य देश प्रेम एवं बलिदान की भावना को बनाये रखना है। हमारे प्रयास देश की गरिमा एवं सम्मान के लिए होना चाहिए।
        अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुंवर पंकज ने कहा कि उन्होने कहा कि वर्तमान में देश के महान विभूतियों की जयंती मनायी जा रही है, यह अत्यधिक गौरवपूर्ण बात है। हमें इन महानुभावों के आदर्शों एवं प्रेरणास्रोतों का अनुसरण करना चाहिए।

विज्ञापन

Multiple Slideshows

विज्ञापन:

विज्ञापन:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here