विधानसभा चुनाव-2022 के लिए प्रचार सामग्री एवं अन्य वस्तुओं की दर हुई तय


देवरिया टाइम्स। आज विकास भवन के गांधी सभागार में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार की अध्यक्षता में विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 के संबंध में निर्वाचन के दौरान चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों द्वारा प्रयुक्त प्रचार-सामग्री के रेट चार्ट के निर्धारण हेतु राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित खर्चे के अंतर्गत चुनाव खर्च करने का निर्देश दिया।


मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी द्वारा किए जाने वाले खर्च की सीमा में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है। पहले प्रत्याशियों को 28 लाख की सीमा में खर्च करना पड़ता था वहीं अब तीस लाख अस्सी हजार रुपये की सीमा में चुनावी खर्च करना होगा। उन्होंने बताया कि 4 वर्ष पश्चात चुनाव में प्रयोग किए जाने वाले प्रचार सामग्री एवं अन्य वस्तुओं की दर का पुनरीक्षण किया जा रहा है। रैली, सभा तथा बैठक में होने वाले खर्चों को इसी दर से व्यय रजिस्टर में राजनीतिक दल/प्रत्याशी एंट्री करेंगे। उन्होंने कहा कि इस सूची में यदि कोई वस्तु छूट गई है तो उसे भविष्य में अद्यतन किया जाएगा। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ जिन प्रचार सामग्रियों एवं वस्तुओं के मूल्यों का निर्धारण किया गया है, उनमें वाहन, होटल, गेस्ट रूम, फर्नीचर, सोफा सेट, वीआईपी कुर्सी, होर्डिंग, नाश्ता, भोजन, ई-रिक्शा, लाउडस्पीकर, हेलीपैड, पानी की बोतल, कार्यालय किराया, पंडाल, बुके, फूल, कपड़े के बैनर, फ्लेक्स, एलईडी स्क्रीन सहित विभिन्न मद शामिल है। इन वस्तुओं के मूल्य निर्धारण में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की सहमति भी प्राप्त की गई।


इस अवसर पर एडीएम प्रशासन/उप जिला निर्वाचन अधिकारी कुंवर पंकज, एडीएम (वित्त एवं राजस्व) नागेंद्र सिंह, वरिष्ठ कोषाधिकारी कुलदीप सरोज, एसडीएम मंजूर अहमद अंसारी, एआरटीओ राजीव चतुर्वेदी, भाजपा के डॉ गंगा शरण पांडेय, समाजवादी पार्टी के अशोक कुमार यादव, बसपा के अशोक कुशवाहा, कांग्रेस के शिव शंकर सिंह, सीपीआई के आनंद प्रकाश चौरसिया, एनसीपी के डॉ रमेश यादव सहित विभिन्न लोग मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर