पूर्व सैनिकों की समस्या का हो त्वरित निराकरण:डीएम


देवरिया टाइम्स। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन की अध्यक्षता में विकास भवन के गांधी सभागार में पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों की समस्याओं के निराकरण हेतु जिला सैनिक बंधु की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने पूर्व सैनिकों की समस्याओं का समयबद्ध एवं गुणवत्ता युक्त निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया।
       सैनिक बंधु की बैठक के प्रारंभ में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में दिवंगत हुए देश के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत और ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की गई एवं उनकी आत्मा की शांति के लिए एक मिनट का मौन रखा गया।


      सैनिक बंधु की बैठक में कुल दस मामले आये। पूर्व सैनिकों के सम्मान में बन रहे जनपद के पहले शहीद स्मारक के निर्माण के लिए जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास अधिकारी विंग कमांडर मुकेश तिवारी (अवकाश प्राप्त) ने जिलाधिकारी का आभार व्यक्त किया। जिलाधिकारी ने बताया कि ईसीएचएस कैंटीन को स्थानांतरित करने के लिए तीन स्थान पर भूमि चिन्हित की गई है। निरीक्षण के बाद उपयुक्त भूमि पर ईसीएचएस कैंटीन सैनिक भवन से स्थानांतरित कर दिया जाएगा।


      जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में सीएसडी कैंटीन बनाने का प्रस्ताव अग्रिम स्तर पर पहुंच गया है। सेना मुख्यालय से मंजूरी मिलने के बाद जनपद में सीएसडी कैंटीन निर्माण की प्रक्रिया भी प्रारंभ हो जाएगी।
         बैठक के दौरान पूर्व सैनिकों द्वारा उठाये गए शस्त्र लाइसेंस के स्थानांतरण से जुड़े मुद्दों पर जिलाधिकारी ने उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।
        सैनिक बंधु की बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, कर्नल एससी राय, जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार, बसंत प्रसाद, रामाश्रय सिंह, डीएस तिवारी, सत्यनारायण सिंह, हरिनारायण यादव सहित कई पूर्व सैनिक मौजूद थे।

*शौर्य चक्र विजेता (मरणोपरांत) लांस नायक ज्योतिष प्रकाश स्मारिका बनाने का प्रस्ताव मांगा*
       बैठक के दौरान पूर्व सैनिकों ने रुद्रपुर के गनियारी गाँव के शौर्य चक्र विजेता (मरणोपरांत) शहीद लांस नायक ज्योतिष प्रकाश की स्मारिका उनके विद्यालय श्री हनुमान विद्या इंटर कॉलेज, बराव में बनाने का प्रस्ताव रखा, जिस पर जिलाधिकारी ने सहमति व्यक्त की और जिला सैनिक कल्याण अधिकारी से इस सम्बंध में प्रस्ताव मांगा। वर्ष 2006 में लांस नायक ज्योतिष प्रकाश जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए थे। वर्ष 2008 में उनको शौर्य चक्र (मरणोपरांत) प्रदान किया गया था।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर