जिलाधिकारी ने जिला पंचायत अन्तर्गत अवस्थित विभिन्न कार्य पटलों, अनुभागो का किया औचक निरीक्षण


देवरिया टाइम्स

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन आज जिला पंचायत अन्तर्गत अवस्थित विभिन्न कार्य पटलों, अनुभागो का औचक निरीक्षण किया तथा जिला पंचायत के निर्माण कार्य परियोजनाओं के कार्य प्रगतियों की समीक्षा किया। इस दौरान उन्होने अपर मुख्य अधिकारी एवं सहायक अभियंता को निर्माण कार्यो में तेजी लाये जाने के निर्देश के साथ कहा कि जो भी अनारम्भ कार्य परियोजनाये है, उन्हे 3 दिन के अन्दर शुरु करायें। अन्यथा ऐसे ठीकेदारों को चिन्हित कर उन्हे ब्लैकलिस्टेड करते हुए एफआईआर दर्ज कराने की कार्यवाही करायें।


जिलाधिकारी ने जिला पंचायत परिसर में अदेयता प्रमाणपत्र निर्गत किये जाने के कार्य पटलो के निरीक्षण के दौरान स्पष्ट रुप से एएमए को निर्देश देते हुए कहा कि केवल बकायेदारो को ही अदेयता प्रमाण पत्र निर्गत किया जाना है। इसके अतिरिक्त जो बकायेदार नही है, उन्हे अदेयता प्रमाणपत्र निर्गत नही होगा। इस तरह का बैनर/पोस्टर तथा जिला पंचायत के बकायेदारो की सूची तत्कालिक रुप में कार्य पटल के सामने चस्पा कराये जाने का निर्देश एएमए को दिया, जिससे मिलान कर केवल बकायेदारों के ही अदेयता प्रमाण पत्र निर्गत किये जाने की कार्यवाही की जा सके।

जिलाधिकारी श्री निरंजन अपर मुख्य अधिकारी को जिला पंचायत के कार्यो का प्रभावी अनुश्रवण किये जाने एवं कार्यो में अपेक्षित सुधार लाये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि कार्यालय में प्रभावी नियंत्रण रखें, हर हाल में सुधार लायें। जिलाधिकारी निरीक्षण में कार्यो/व्यवस्थाओं को लेकर काफी नाराज दिखें, इसके लिये उन्होने सहायक अभियंता व अपर मुख्य अधिकारी को फटकार लगायी। कहा कि आगे इस तरह की ढिलाई कतई नही बर्दास्त होगी। तीन दिन का समय देते हुए कहा कि इसके उपरान्त पुनः निरीक्षण व समीक्षा की जायेगी। इसलिये सुधार परिलक्षित होना चाहिये। उन्होने एएमए को निर्देश दिया कि वसूली का स्टेटस प्रतिदिन सायं उपलब्ध करायेगें एवं सम्पत्तियों का सत्यापन नियमित रुप से सुनिश्चित करायेगें। उन्होने निर्माण कार्यो की सूची मुख्य विकास अधिकारी को उपलब्ध कराये जाने का निर्देश दिया। कहा कि मुख्य विकास अधिकारी, अधिकारियों को लगाकर 7 दिन के अन्दर सभी कार्य परियोजनाओं का निरीक्षण चेकलिस्ट अनुसार करायेगें और आख्या उपलब्ध करायेगें। उन्होने सभी निर्माणाधीन कार्य परियोजनाओं को मई तक पूर्ण प्रत्येक दशा में किये जाने का निर्देश दिया। कहा कि बरसात के दिनो में अधूरे कार्य परियोजनाओं को लेकर आमजन को कोई दिक्कत नही होनी चाहिये, इसलिये उसे प्राथमिकता के साथ इसके पूर्व अनिवार्य रुप से पूर्ण करायें।


जिलाधिकारी सभी एक-एक कार्य परियोजनाओं की प्रगति की जानकारी संबंधित अवर अभियंताओं से भी किया। अनारम्भ स्थिति वाले कार्यो के लिये उन्हे फटकार लगायी। इसके पूर्व वे अदेयता प्रमाण पत्र के कार्यो, आडिट सेक्शन एवं जिला पंचायत सभागार के सुदृढ़ीकरण कार्यो आदि का निरीक्षण किया। सभागार के निर्माण कार्य आज बन्द होने पर नाराजगी जताई। सहायक अभियंता को निर्देश दिया कि यदि तय समय पर कार्य पूर्ण नही होगा, तो इसके लिये उनकी जिम्मेदारी तय की जायेगी। अपर मुख्य अधिकारी को अधीनस्थों को नियंत्रित रखने के कडे निर्देश दिये।
निरीक्षण के दौरान सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन, प्रभारी एएमए प्रमोद कुमार सिंह, सहायक अभियंता सुकीर्ति मिश्रा, अवर अभियंता गण एवं जिला पंचायत के अन्य कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर