घर पहुचा सेना के जवान का शव, नम आंखों से स्वजनों एवं गांववालों ने दी अंतिम विदाई

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

भलुवनी थाना क्षेत्र ग्राम जरार मानिक गांव में सेना के जवान का शव आते ही गांव में मातम छा गया। स्वजन की चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। जवान की अर्थी उठी तो सभी ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी।

विजय कुमार गोंड़ 45 पुत्र लल्लन प्रसाद गोंड भारतीय सेना में इंजीनियरिग कोर नसीराबाद में कार्यरत थे। गुरुवार को अपनी नई तैनाती स्थल निसामारी (असम) जा रहे थे। ट्रेन से जाते समय गुवाहाटी स्टेशन पर अचानक तबीयत खराब होने के कारण उनके साथियों ने उनको हास्पिटल में भर्ती कराया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अंतिम विदाई बरहज सरयू तट पर दी गई। 1995 में सेना में हुए थे भर्ती

ग्राम जरार मानिक निवासी विजय कुमार गोंड़ 1995 में सेना में भर्ती हुए थे। पहली तैनाती केरल में हुई थी। शनिवार को उनका मृत शरीर गांव पहुंचा, स्वजन,गांव के लोग व सेना के जवानों ने उनको श्रद्धांजलि दी। स्वजन का रो-रो कर बुरा हाल है। पत्नी चंद्रिका देवी रोते बिलखते बेहोश हो जा रही थीं। दो बेटियां भावनी-17 व अक्षरा-15 हैं। सेना के जवान तीन भाइयों में बड़े थे। इनके दो भाई सुनील व धर्मेंद्र प्राइवेट क्षेत्र में नौकरी करते हैं।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here