दंपति ने परिवार नियोजन के मनपसंद साधनों का किया चुनाव


देवरिया टाइम्स।
जिले के सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स पर बुधवार को खुशहाल परिवार दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान इच्छुक दंपति को परिवार नियोजन के साधन निःशुल्क मुहैया कराए गए। लोगों को परिवार नियोजन के साधनों के प्रति जागरूक किया गया। चिकित्सकों ने गर्भवती को छोटे परिवार के महत्व के बारे में बताया।


एसीएमओ आरसीएच डॉ. बीपी सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मझगंवा पहुंचकर खुशहाल परिवार दिवस की जानकारीली । लाभार्थियों को परिवार नियोजन के बारे में जागरूक भी किया। उन्होंने बताया कि ब्लॉक स्तरीय चिकित्सा इकाइयों के साथ-साथ हेल्थ एंड वेलनेस पर भी खुशहाल परिवार दिवस का आयोजन किया गया । मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसी क्रम में खुशहाल परिवार दिवस मनाया जाता है,जिसमें दंपति को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में जागरूक किया जाता है।

उन्होंने बताया कि खुशहाल परिवार दिवस के आयोजन के दौरान परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों की सुविधा सभी चिकित्सा इकाइयों पर उपलब्ध कराई गई। अस्थायी विधि में आईयूसीडी, गर्भनिरोधक माला-एन और छाया गोली और त्रैमासिक अंतरा इंजेक्शन आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दंपति को परिवार नियोजन के साधनो को अपनकरपरिवार आगे बढ़ाना चाहिए। इससे परिवार खुशहाल होगा। मातृ स्वास्थ्य परामर्शदाता विश्वनाथ मल्ल ने कहा कि परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधन का उपयोग कर दो बच्चों के बीच के अंतर रख सकते हैं। परिवार में सदस्यों की संख्या कम रहने पर खर्च सीमित रहेगा। इस इस मौके पर सीएचसी पर 40 लाभार्थियों को परिवार नियोजन के बारे में जानकारी दी गई।
इस मौके पर प्रभारी अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन, नर्स मेंटर दिव्या वर्मा, बीपीएम लक्ष्मीकांत ओझा, एएनएम पन्ना देवी और शशिप्रभा प्रमुख तौर पर मौजूद रहीं।

परिवार नियोजन के लिए अपनाया माला-एन

खुशहाल परिवार दिवस पर आई सरवरा निवासी कुसुम देवी (29) ने बताया कि उनके दो बच्चे हैं। उनका सबसे छोटा बेटा ढाई साल का है। उन्होंने खुशहाल परिवार दिवस पर आकर अस्थाई साधन माला-एन को अपनाया है। उन्होंने बताया कि अब वह कोई बच्चा नहीं चाहती हैं। छोटा परिवार सुखी परिवार होता है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर