कुलपति से मिले बैक छात्र -छात्राएं

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स

संत विनोबा पीजी कालेज के विधि पंचम सेमेस्टर के 26 छात्र-छात्राओं को मौखिक परीक्षा में फेल किए जाने के मामले में जांच अभी जारी है। मंगलवार को छात्र-छात्राओं का प्रतिनिधिमंडल गोरखपुर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डा.अमरेंद्र कुमार सिंह और डीन प्रो. चंद्रशेखर से मिला और अपनी बात रखा।

छात्रों का प्रतिनिधिमंडल सबसे पहले परीक्षा नियंत्रक डा.अमरेंद्र कुमार सिंह से मिला। परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि कुलपति की तरफ से गठित जांच कमेटी के सामने जाकर अपनी बात रखें। इसके बाद छात्र डीन प्रो.चंद्रशेखर के पास पहुंचे और महाविद्यालय के विधि विभागाध्यक्ष केके शाही की तरफ से भेजे गए रिपोर्ट के बारे में पूछा। डीन ने बताया कि अभी रिपोर्ट नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने के बाद आप लोगों को पक्ष रखने के लिए बुलाया जाएगा।

संत विनोबा पीजी कालेज के विधि पंचम सेमेस्टर के 80 में 26 छात्र-छात्राएं प्रोफेशनल एथिक्स एंड प्रोफेशनल एकाउंटिग सिस्टम विषय के मौखिक परीक्षा में फेल हो गए हैं। 50 अंक के मौखिकी परीक्षा में 13 से लेकर 16 तक अंक दिए गए हैं। कोई एक नंबर तो कोई दो नंबर से फेल हुआ है। छात्रों का आरोप है कि विभागाध्यक्ष ने उनके साथ अन्याय किया है। यदि उनकी बात नहीं सुनी गई और न्याय नहीं मिला तो विश्वविद्यालय परिसर में सत्याग्रह करने को मजबूर होंगे। प्रतिनिधिमंडल में ज्योति शाही, कंचन मिश्रा, पूजा पांडेय, ऋषिकेश मिश्र, विश्वदीपक, राजन कुमार, प्रियांशु पाठक, अमित गोंड, हरेराम गुप्ता, हरिश्चंद्र चौहान शामिल रहे।

दीदउ गोरखपुर विश्वविद्यालय के डीन प्रो. चंद्रशेखर ने बताया कि विभागाध्यक्ष की रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने के बाद छात्रों का पक्ष सुना जाएगा। इसके बाद कमेटी अपनी रिपोर्ट कुलपति प्रो. राजेश सिंह को सौंप देगी। निर्णय कुलपति को लेना है।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here