पीसीएस में चयनित छात्र का हुआ सम्मान


देवरिया टाइम्स

स्थानीय खरजरवा स्थित कलिन्द इंटरमीडिएट कॉलेज पर पीसीएस में चयनित रवीश चंद यादव का विद्यालय पर प्रथम बार आगमन पर सम्मान समारोह के साथ विद्यालय के प्रतिभावान छात्र जो विज्ञान मॉडल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बेहतर प्रदर्शन किए थे उनका भी सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बब्बन सिंह शिक्षा संस्थान के कुल मुख राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त डॉ टीपी सिंह कार्यक्रम की अध्यक्षता अभयानंद शिक्षण संस्थान के कुल मुख राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त रमेश चंद्र सिंह थे कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के चित्र पर पुष्पार्चन से शुरू हुआ उसके बाद विद्यालय के प्रबंधक संग्राम सिंह प्रधानाचार्य वकील सिंह ने आए हुए सभी अतिथि गण का माल्यार्पण कर अंगवस्त्रम के साथ स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका स्वागत किया विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना के साथ अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति कर सबका मन मोहा उसके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर तेज प्रताप सिंह ने कहा कि व्यक्ति के अंदर यदि संकल्प शक्ति के साथ अनुशासन में

रहकर परिश्रम करने की ललक हो तो निश्चित रूप से उसके लिए कोई लक्ष्य असंभव नहीं है उन्होंने कोशिश करने वालों की हार नहीं होती की कविता सुना कर बच्चों को ऊर्जावान बनाया उसके बाद विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे स्काउट गाइड के मुख्य आयुक्त डॉक्टर मिथिलेश कुमार सिंह ने कहा की नारी शक्ति अर्थात नारी में वो अपार शक्ति है जिससे कोई भी कार्य असंभव नहीं है यदि बच्चियां ठान ले की हमें यह लक्ष्य हासिल करना है तो निश्चित रूप से उस लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही बच्चियों के अंदर अद्भुत शक्ति है जो किसी को भी प्राप्त कर सकते हैं। विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित पूर्व प्रधानाचार्य ब्रह्म प्रकाश सिंह यादव ने कहा की आज के बच्चे कल के भविष्य हैं इन्हें सिर्फ सही मार्ग दिखाने की जरूरत है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे हैं कुल मुख रमेश चंद्र सिंह ने कहा की विद्यार्थी का जीवन वास्तव में एक गीली मिट्टी के समान है हम उसे जिस प्रकार का आकार देना चाहे दे सकते हैं। बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार की विशेष जरूरत होती है क्योंकि संस्कार के बिना शिक्षा अधूरा हैसंस्कारित बच्चे हैं बेहतर भारत की न्यूज़ रख सकते हैं। पीसीएस में चयनित रमेश चंद यादव ने कहा कि कभी भी हमें असफलता से घबराना नहीं चाहिए असफलता से ही सफलता की न्यू पढ़ती है यदि सफलता हासिल करना हो तो कठिन परिश्रम के साथ यदि समय का सही ढंग से समायोजन किया जाए तो कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं होता है। लोकतंत्र रक्षक सेनानी सुभाष चंद्र उपाध्याय ने कहा संघर्षों से किसी भी मंजिल को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है यदि हम अनुशासन में रहकर संघर्ष करते हैं तो सफलता अवश्य मिलेगी। उक्त अवसर पर अनेक गणमान्य व्यक्ति प्रधानाचार्य डीएन तिवारी, माधव प्रसाद सिंह राम सुमेर पांडे श्रीनिवास सिंह कमलेश सिंह शत्रुघन तिवारी संजय मणि बीके सिंह शीला मिश्रा उमा पांडे दिलीप यादव कमलेश सिंह दुर्गेश मल्ल लाल बाबू यादव आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के प्रबंधक संग्राम सिंह ने आए हुए अतिथि गण के प्रति आभार प्रगट किया एवं कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के प्रधानाचार्य वकील सिंह ने किया।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर