विवादों के सौहार्दपूर्ण समाधान के लिये आगे आये समाजः- न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

सभी नागरिकों के लिये उचित निष्पक्ष और न्याय प्रक्रिया सुनिश्चित करने हेतु जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से 09 नवंबर को राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस मनाया जाता हैं। इस उपलक्ष्य में आज दिनांक 09 नवंबर को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के तत्वावधान में रेलवे स्टेशन देवरिया पर राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस पर सेवा भावना से कार्य करने, स्वच्छता हेतु श्रमदान करने, मानव तस्करी रोकने, बालश्रम रोकथाम एवं नशामुक्ति हेतु विधिक साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र ने बताया कि समाज के गरीब और कमजोर वर्गो को सहायता और समर्थन प्रदान करने हेतु राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस कार्यक्रम की शुरूआत की गयी थी। उन्होंने ने बताया की विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम, 1987 के अंतर्गत समाज के कमजोर वर्गो को निःशुल्क कानूनी सेवाएं प्रदान करने के लिये और विवादों के सौहार्दपूर्ण समाधान के लिये लोक अदालतों का आयोजन करने के उद्देश्य से किया गया हैं। राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस कार्यक्रम के शुभ अवसर पर समाज को संदेश देते हुये बताया गया कि इसके अंतर्गत सुपात्र लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता प्रदान किया जाता हैं, विवादों को सौहार्दपूर्ण ढंग से निपटाने के लिए लोक अदालतों को आयोजन, मानव तस्करी के शिकार पीड़ितों को कानूनी सहायता, विकलांग व्यक्तियों को निःशुल्क विधिक सहायता, बालात् श्रम, नाबालिग बच्चों को मिलने वाले विधिक सहायता, नशा मुक्ति हेतु निरंतर जागरूकता कार्यक्रम करना इत्यादि तरह के विधिक सहायता प्रदान किये जाते हैं। इस दौरान न्यायाधीश ने कहा कि आज समाज में दिन-प्रतिदिन अपराधों की संख्या में इजाफा होता जा रहा हैं जिसका सीधा सा कारण हैं शिक्षा की कमी। शिक्षा की कमी के कारण व्यक्ति में सही और गलत में अंतर करना मुश्किल होता हैं,

इसी कारण अपराधों की संख्या में कमी हेतु नियमित रूप से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जागरूकता कार्यक्रम/विधिक साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन किया जाता हैं। विधिक साक्षरता के माध्यम से हम समाज को व्यापक स्तर पर जागरूक करते हुये शिक्षित तथा समाज को अपराधिक प्रवृत्ति से दूर रख सकते हैं। आज समाज में विधिक सेवा प्रदान करने हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण न्याय आपके द्वार के तर्ज पर दिन-प्रतिदिन कार्य कर रही हैं। न्यायाधीश ने रेलवे स्टेशन पर उपस्थित समस्त सम्मानित जनता को अवैधानिक कार्यो जैसे मानव तस्करी पर रोक, बालात् श्रम पर रोक हेतु जागरूकता, विकलांगों की सेवा हेतु तथा नशा मुक्ति हेतु जागरूकता का शपथ दिलाते हुये समाज को एक साथ आगे आने का आह्वान किया। वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव हेतु अभी नियमित रूप सावधानी बरतने का आह्वान करते हुये सोशल डिस्टेंसिंग एव मास्क पहनने का निर्देश दिया। इस क्रम में न्यायाधीश ने कहा कि कोरोना काल में पहली बार राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन दिनांक 12.12.2020 को होना सुनिश्चित किया गया हैं जिसमें अधिक से अधिक संख्या में वादों/मामलों का निस्तारण किया जाना हैं।

इस राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस के शुभ अवसर पर समस्त सम्मानित जनता से अपील की गयी कि भारत के नागरिक होने के कारण तथा भारत के सतत् विकास हेतु विकास एक नयी दीप जलाते हुये समाज में व्याप्त कुरीतियों जैसे मानव तस्करी पर रोक, बालात् श्रम पर रोक हेतु जागरूकता, विकलांगों की सेवा हेतु तथा नशा मुक्ति हेतु जागरूकता पर विशेष बल देते हुए समाज के प्रत्येक सदस्यों को आगे आने का आह्वान किया। इस अवसर पर मुख्य रूप से पूर्व स्टेशन अध्यक्ष श्री परशुराम त्रिपाठी, वर्तमान स्टेशन अध्यक्ष इमामुद्दीन अंसारी, थाना प्रभारी जी0आर0पी0 अनिल कुमार यादव, आर0पी0एफ0 मनभरन, एस0आई0जी0आर0पी0 राम सिंह, ए0एस0आई0 आर0 पी0 एफ0 रामऔतार गौड़ व सैकड़ों की संख्या में अन्य लोग उपस्थित रहें।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here