खराब कार्य प्रगतियों के लिये दो अधिशासी अधिकारियों को रुका वेतन व स्पष्टीकरण तलब


देवरिया टाइम्स

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन नगर निकायो, नगरपालिकाओं एवं डूडा द्वारा संचालित कार्यो को प्रभावी तरीके से समयबद्वता के साथ पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया। उन्होने नगरपालिका परिषद देवरिया एवं गौरा बरहज के अधिशासी अधिकारियों का वेतन कार्य प्रगति सन्तोषजनक नही पाये जाने पर रोकने के साथ ही स्पष्टीकरण तलब किये जाने का निर्देश दिया। उन्होने सचेत करते हुए कहा कि सभी नगर पंचायत अपने कार्यो में सुधार लाये, संसाधनो को विकसित करें, साफ-सफाई, चाक-चैबंध रखें, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता नही होनी चाहिये। इसके साथ ही उन्होने यह भी निर्देश दिया है कि बरसात के पूर्व हर हाल में जल निकासी की व्यवस्था सुदृढ कर लें। जल जमाव नही होना चाहिये, इसके लिये कार्य योजना बनाकर अभी से कार्यो को सुनिश्चित करें। किसी भी दशा में आमजन को असुविधा नही होनी चाहिये, अन्यथा सीधे-सीधे जिम्मेदारी अधिशासी अधिकारियों की तय करते हुए कार्यवाही की जायेगी।


जिलाधिकारी श्री निरंजन देर रात्रि कलक्ट्रेट सभागार में नगर निकायों/नगरपालिका व डूडा के कार्यो की प्रगति समीक्षा कर रहे थे। उन्होने नगरपालिका परिषद देवरिया के कार्यो की समीक्षा के दौरान कई कार्य परियोजनायें औपचारिकताओं के पूर्ण होने के बाद भी कार्य प्रारम्भ नही किये जाने पर उन्होने निर्देश दिया कि ऐसे ठीकेदारों को काली सूची में डालते हुए उनके सिक्योरिटी राशि को सीज करें तथा एक सप्ताह के अन्दर कृत कार्यवाहियों से अवगत भी करायें। गौरा बरहज में भी अनारम्भ कार्यो को शीघ्र शुरु कराये जाने का निर्देश उन्होने दिय, इसके लिये अधिशासी अधिकारी को फटकार लगाते हुए सचेत भी किया। कहा कि ठीकेदारो क बैठक बुलाये और कार्यो में तेजी लाते हुए उसे पूर्ण करायें।
जिलाधिकारी ने सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि नगर पंचायतों के कार्यालयों में आगन्तुकों के लिये पेयजल,शौचालय, बैठने की व्यवस्था सुचारु रुप से होनी चाहियें, इसके लिये औचित्यपूर्ण प्रस्ताव सम्मिलित करें। अधिकारी अधिकारी रुद्रपुर द्वारा प्रस्तुत किये गये बुकलेट में प्रगति आकडो पर असन्तोष जताया। उन्हे सचेत करते हुए कहा कि कार्यो में सुधार लाये अन्यथा कार्यवाही की जायेगी। उन्होने गौरा बरहज व गौरी बाजार में निर्मित गौआश्रय केन्द्रो को शीघ्र चालू कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने सभी नगरनिकायों में साफसफाई आदि कार्यो को समुचित रुप से कराये जाने का निर्देश भी दिया।


जिलाधिकारी प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की समीक्षा में यह सख्त रुप से निर्देश दिया कि आवास के लिये सर्वे व दिलाये जाने के नाम पर यदि किसी द्वारा धन अवैध वसूली की शिकायत मिले तो उसे जेल भेजने की कार्यवाही की जाये और एजेन्सी के संबंधित अवर अभियंता इसके लिये अपनी तहरीर देते हुए एफआईआर दर्ज करायेगें। उन्होने पीएम स्वनिधि योजना की जायजा के दौरान शतप्रतिशत लाभार्थियों को इसके तहत ऋण मुहैया कराने का निर्देश दिया। समीक्षा में 69.84 प्रतिशत प्रगति पायी गयी, शेष को भी शीघ्रता के साथ पूर्ण किये जाने को उन्होने कहा।
बैठक में सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव, सीआरओ अमृत लाल बिन्द, एडीएम प्रशासन कुवर पंकज, परियोजना अधिकारी डूडा विनोद कुमार मिश्र सहित अधिशासी अधिकारी गण व संबंधित अन्य अधिकारी व कर्मचारी गण उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर