व्यापारियों के तेवर से बैकफुट पर आया प्रशासन,मकान गिराने पहुंची टीम खाली हाथ वापस

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

रुद्रपुर कोतवाली अंतर्गत उपनगर के जमुनी चौराहे पर दुकान खाली कराने को लेकर प्रशासन और व्यापारियों में नोकझोंक रविवार की देर शाम नोकझोंक हो गया । व्यापारियों के तेवर देख प्रशासन को बैक फूट पर आना पड़ा । इसी दौरान एक व्यापारी
ने कुनबे सहित आत्महत्या के प्रयास को देखकर व्यापारियों का गुस्सा प्रशासन के खिलाफ फूट पड़ा । ऐहतियात के तौर पर प्रशासन ने आधा दर्जन थानों की फोर्स को बुला लिया था।
जानकारी के अनुसार जमुनी चौराहे पर आधा दर्जन दुकानदारों से मकानमालिक और किराएदारों से तीन दशक से विवाद चल रहा है । डीएम अमित कुमार के निर्देश पर एसडीएम सुनील कुमार सिंह और सीओ अंबिका राम का नेतृत्व में भारी संख्या में फोर्स पहुंची। और दुकानों को खाली कराने लगी। और उनके बोर्ड और मकान को जेसीबी से तोड़वाना शुरू किया। यह देख व्यापारी आगबबूला हो गए। इसी दौरान पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष छटटेलाल निगम, जितेंद्र गुप्ता, दिलीप गुप्ता सहित बड़ी संख्या में व्यापारी नेता जुट गए और विरोध करने लगे। भाजपा नेता छटटेलाल निगम ने कहा प्रशासन जानबूझकर व्यापारियों का उत्पीड़न कर सरकार को बदनाम करने रहा है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से की जाएगी। दूसरी मकान का आदेश दिखाकर दुकानदारों को बेदखल किया जा रहा है। एक दुकानदार जयप्रकाश निगम ने दुकान के सामने परिवार सहित किरासन शरीर पर उड़ेल लिया और जिसे प्रशासन ने रोक दिया । दूसरी और दुकानदार गुलाब,राजकुमार, जयप्रकाश, अशोक ने बताया कि बिना सूचना के हमलोगों को बेदखल किया जा रहा है। अगर दुकान बंद हो गई तो भुखमरी की दशा आ जाएगी।
क्या कहते हैं एसडीएम

सुनील कुमार सिंह ने कहा कि डीएम के आदेश पर दुकानदारों को खाली कराया जा रहा था।

देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 7007812095 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here