शोध राष्ट्र निर्माण में सहायक : शिवांशु श्रीवास्तव

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स

स्थानीय खरजरवा स्थित कलिन्द इंटरमीडिएट कॉलेज पर राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया गया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि इलेक्ट्रिकल इंजीनियर चाइना में शोध करने वाले शिवांशु श्रीवास्तव अध्यक्षता जितेंद्र पांडे वृक्ष मित्र विशिष्ट अतिथि विज्ञान संचार अनिल त्रिपाठी एवं इंजीनियर देव आनंद राय थे. विज्ञान मॉडलों का अवलोकन करने के बाद विज्ञान दिवस पर पर चर्चा करते हुए मुख्य अतिथि शिवांशु श्रीवास्तव ने कहा कि नोबेल पुरस्कार प्राप्त भारतीय वैज्ञानिक सर सी वी रमन ने अपने शोध रमन प्रभाव के कारण विश्व में भारत सहित एशिया के देशों का जो गौरव बढ़ाया. उन्हें के सम्मान में 28 फरवरी 1987 से विज्ञान दिवस के रूप में मनाने का काम शुरू किया गया .विज्ञान दिवस मनाने का उद्देश्य विद्यार्थियों के अंदर विज्ञान के प्रति अधिक से अधिक जागरूकता पैदा हो बच्चे भिन्न भिन्न प्रकार के शोध करें,और राष्ट्र निर्माण में अपने महत्वपूर्ण भूमिका निभाए तभी यह विज्ञान दिवस मनाना सार्थक होगा.

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विज्ञान समाचार अनिल त्रिपाठी ने कहा कि विज्ञान के छात्र हमेशा कुछ ना कुछ सोचते रहते हैं और उसी सोच को मॉडल के रूप में पर्णित करते हुए अनेक यंत्रों का अनेक मॉडल ओं का स्वरूप प्रदान कर देश निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं . कार्यक्रम के अध्यक्ष जितेंद्र पांडे ने कहा कि विज्ञान की उपयोगिता से हम कम समय में अधिक से अधिक बड़े से बड़े काम कर सकते हैं. विज्ञान का उद्देश्य ही है की कोई भी काम सरलता से कम लागत पर बेहतर से बेहतर किया जा सके लेकिन विज्ञान के दुष्प्रभाव भी समाज में वातावरण में होता है. इससे पार पाने के लिए हम अधिक से अधिक वृक्षारोपण कर विज्ञान के दुष्प्रभाव को रोक सकते हैं. विद्यालय के प्रधानाचार्य ने कहा कि विज्ञान के द्वारा ही हम नए नए शोध कर देश निर्माण में अपने महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. तभी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाना सार्थक होगा उक्त अवसर पर विद्यालय के अनेक गणमान्य व्यक्ति रामसुमेर पांडे श्रीनिवास सिंह आदर्श सिंह, कमलेश सिंह, अभिमन्यु सिंह, हरीश चंद्र शुक्ल सहित विद्यालय के छात्र रवि प्रताप यादव अमन यादव आशीष गुप्ता सनी गुप्ता अनुज मिश्रा किशन सिंह दिव्यांशु चौरसिया मोहित चौहान शुभम सिंह नमन सिंह अमन सिंह यादव सहित अनेक छात्र छात्राओं ने अपने मॉडल प्रस्तुत किए,कार्यक्रम का संचालन इंजीनियर देव आनंद राय ने किया .

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here