विकास कार्यों में खामियां होने पर जनप्रतिनिधि नाराज

विज्ञापन

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक सोमवार को विकास भवन गांधी सभागार में हुई। इसमें जनप्रतिनिधियों ने विभिन्न विकास कार्यो की समीक्षा की। बैठक में विभिन्न जगहों पर बने ओवरहेड टैंकों के काम न करने, प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़कों की ठेकेदारों द्वारा मरम्मत न कराने पर जनप्रतिनिधियों ने नाराजगी जताई। कुछ जगहों पर गांवों में बन रहे पंचायत भवनों की गुणवत्ता ठीक न होने का भी मामला उठा।

बैठक में मनरेगा की समीक्षा के दौरान सलेमपुर सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने पिन्डी गांव के बंधे का कुछ भाग पूरा न होने का मामला उठाया। बाढ खंड के अधिशासी अभियंता को इसे मनरेगा से सम्मिलित करते हुए कार्य को पूरा करने का निर्देश डीएम ने दिया। रामपुर कारखाना विधायक प्रतिनिधि डॉ. संजीव कुमार शुक्ल ने छोटी गंढक में कुछ कटान स्थलों पर मनरेगा से ठोकर बनवाने को कहा। बैठक में बताया गया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना के तहत इस वर्ष कुल 41 नई सड़के स्वीकृत हुई हैं। सदर सांसद डॉ. रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि इन सड़कों के निर्माण शर्तो में 5 वर्ष की अवधि तक मरम्मत करना भी शामिल है, लेकिन ठेकेदार सड़कों की मरम्मत नहीं कराते हैं और सड़के टूट जाती हैं। सांसद ने इसकी जिम्मेदारी तय करने की मांग की। अध्यक्ष सलेमपुर सांसद ने इस पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा। बांस गांव सांसद प्रतिनिधि ने बरहज से करुअना मार्ग की खराब स्थिति को उठाया। विधायक सुरेश तिवारी ने कहा कि कार्य स्थलों पर संबंधित जेई उपस्थित नहीं रहते हैं, जिससे कार्य की गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना रहती है।

बैठक में पेयजल आपूर्ति योजनाओं का कार्य समय से पूरा न होने पर जनप्रतिनिधियों ने नाराजगी जताई। कुछ ने यह कार्य पीडब्लूडी को सौंपने का सुझाव दिया। हालांकि इस पर एक ब्लॉक प्रमुख ने पीडब्लूडी पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि यह लोग अपनी सड़क ही ठीक से नहीं बनवा पा रहे हैं तो यह काम कैसे ठीक करेंगे। कई ओवरहेड टैंकों के काम न करने पर भी जनप्रतिनिधियों ने नाराजगी जताई। खुदिया बुजुर्ग में प्रस्तावित पेयजल परियोजना का शुभारम्भ कराने व निर्माणाधीन पंचायत भवनों की गुणवत्ता मानकों के अनुसार बनाए रखने की भी जनप्रतिनिधियों ने आवाज उठाई। बिजली विभाग में शिकायतों का निस्तारण समय से न होने का मामला भी उठा। इस पर अध्यक्ष ने अगली बैठक में इस तरह की शिकायत आने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। अध्यक्ष सलेमपुर सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने कहा कि अधिकारी बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा उठायी गई समस्याओं को गंभीरता से लेकर उसका समय के अंदर निराकरण करने को कहा। सदर सांसद डॉ. रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि केवल बैठकों में ही संवाद न हो, बल्कि जनहित के मुद्दो पर चर्चा होती रहनी चाहिए।

जिलाधिकारी अमित किशोर ने समस्याओं व शिकायतों का निस्तारण कराए जाने व सुझावों का अनुपालन सुनिश्चित करने का भरोसा दिलाया। इस दौरान सदर विधायक डॉ. सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी, बरहज विधायक सुरेश तिवारी, एमएलसी राम सुन्दर दास, पुलिस अधीक्षक डॉ. श्रीपति मिश्र, पूर्व विधायक रविन्द्र प्रताप मल्ल, एमएलसी प्रतिनिधि राजू मणि, ब्लॉक प्रमुख जटाशंकर द्विवेदी, सीएमओ डॉ. आलोक पाण्डेय सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here