प्राथमिक विद्यालय राष्ट्रभक्ति और संस्कार का स्त्रोत: डॉ रमापति राम त्रिपाठी 


देवरिया टाइम्स। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा श्रावस्ती से ‘स्कूल चलो अभियान’ का शुभारंभ किया गया। उक्त कार्यक्रम का जनपद के सभी 2,120 परिषदीय विद्यालयों में सजीव प्रसारण किया गया। जनपद में ‘स्कूल चलो अभियान’ का मुख्य कार्यक्रम गौरीबाजार के उत्तर प्राथमिक विद्यालय लबकनी में आयोजित किया गया, जहां माननीय सांसद डॉ रमापति राम त्रिपाठी, माननीय विधायक डॉ शलभ मणि त्रिपाठी एवं जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मुख्यमंत्री के संबोधन का सजीव प्रसारण देखा।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय सांसद देवरिया डॉ रमापति राम त्रिपाठी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हाल के वर्षों में सरकार के प्रयास से प्राथमिक शिक्षा में क्रांतिकारी सुधार हुआ है। पहले स्कूलों में सिर्फ नामांकन होता था, अब गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ बच्चों का सर्वांगीण विकास हो रहा है। विद्यालयों को आकर्षक बनाया जा रहा है। ढाँचागत सुधार किए जा रहे हैं। बड़ी संख्या में शिक्षकों की भर्ती पूर्ण निष्पक्षता के साथ हुई है। सदर सांसद ने कहा कि प्राथमिक विद्यालय राष्ट्रभक्ति और संस्कार के स्त्रोत हैं। ‘स्कूल चलो अभियान’ के तहत हम सभी की जिम्मेदारी है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे। शिक्षित समाज ही सशक्त राष्ट्र का निर्माण करता है।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि माननीय विधायक देवरिया सदर डॉक्टर शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि मुख्यमंत्री की अगुवाई में चल रहा है ‘स्कूल चलो अभियान’ प्रदेश में शिक्षा की नई अलख जगाएगा। प्रदेश सरकार गरीब परिवार के बच्चों को सभी प्रकार के शैक्षणिक संसाधन उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है। स्कूल ड्रेस, बैग कॉपी-किताब, मिड-डे-मील निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। 2017 के बाद प्रदेश में परिषदीय विद्यालयों का कायाकल्प हुआ है। विद्यालयों को स्मार्ट विद्यालय में तब्दील किया जा रहा है। जनपद के विद्यार्थियों में असीम क्षमता है। राज्य सरकार का प्रयास है कि जनपद के विद्यार्थियों को हर संभव सहायता मिले, जिससे वे अपने सपनों को साकार कर सकें।

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा कि जनपद में ‘स्कूल चलो अभियान’ का क्रियान्वयन शासन की मंशानुरूप पूर्ण प्रभाविता के साथ किया जाएगा। पिछले शैक्षिक सत्र में बेसिक शिक्षा परिषद के 2120 विद्यालयों में 2.36 लाख बच्चे अध्ययनरत थे। इस वर्ष ‘स्कूल चलो अभियान’ के तहत 6-14 आयुवर्ग के सभी ड्रॉपआउट बच्चों का नामांकन प्राथमिक विद्यालयों में सुनिश्चित किया जाएगा।

बेसिक शिक्षा अधिकारी सन्तोष कुमार राय ने प्राथमिक शिक्षा का महत्व बताया और अभिभावकों को अपने-बच्चों को परिषदीय स्कूल भेजने के लिए प्रेरित किया।

इससे पूर्व कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्वलन से हुई। संविलियन विद्यालय इंदुपुर, संविलियन विद्यालय पुरुषोत्तिमा, संविलियन विद्यालय रतनपुर के विद्यार्थियों ने अपनी मनमोहक सांस्कृतिक प्रस्तुति से लोगों का मन मोह लिया। कार्यक्रम के दौरान पाँचवी एवं आठवीं में अच्छा प्रदर्शन करने वाले मेधावी छात्रों एवं उनके अभिभावकों को सम्मानित किया गया। दिव्यांग बच्चों को ब्रेल लिपि किट और श्रवण यंत्र, का वितरण भी किया गया।इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी भइन लाल पटेल, खंड शिक्षा अधिकारी प्रभात चन्द्र राय, विजयपाल नारायण तिवारी, शैलेन्द्र कुमार सिंह, संजय कुमार सिंह, आनंदेश्वर सिंह, जयशिव प्रताप चन्द्र सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी-अभिभावक- शिक्षक, जनप्रतिनिधिगण मौजूद थे।

*सदर विधायक एवं जिलाधिकारी ने चखा मिड-डे-मील का ज़ायका*
कार्यक्रम के उपरांत सदर विधायक डॉक्टर शलभ मणि त्रिपाठी एवं जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने उत्तर प्राथमिक विद्यालय लबकनी के विद्यार्थियों के साथ मिड-डे-मील योजनांतर्गत बने भोजन का जायका लिया। सदर विधायक एवं जिलाधिकारी ने भोजन की गुणवत्ता पर सन्तोष जताया और इसी तरह का भोजन नियमित रूप से बनना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर