स्वच्छता का यही हाल रहा तो बहुत जल्द प्रदूषित जल व प्रदूषण के मामले में नंबर वन होगा देवरिया!

0
87
विज्ञापन

देवरिया टाइम्स
रिपोर्ट: संतोष विश्वकर्मा

शहर में गंदगी का आलम ये है कि अगर कोई बाहरी व्यक्ति शहर में गोरखपुर फ्लाईओवर के माध्यम से प्रवेश करता है तो उसका स्वागत कुरना नाला के प्रदूषित जल व हवाओं से होगा। गंडक विभाग देवरिया से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2006 के बाद नहीं हुआ कुरना नाले की सफाई। सवाल करने पर हर विभाग एक दूसरे पर थोपता है अपना काम और आश्चर्य की बात यह है कि विभाग के अधिकारी और बाबुओ को नहीं रहती है अपने काम के प्रति पूरी जानकारी!

गंडक विभाग देवरिया का कहना है कि शासन को हर साल लेटर लिखा गया फिर नहीं आया बजट, वही कुरना नाले की चौड़ीकरण के समय कुछ लोगो की जमीन जाने पर लोग विरोध और धरना देना शुरू कर दिए, मामला शांत करने के चक्कर में देवरिया प्रशासन ने किसी तरह से मुवाजे की बात पर कुरना नाले की चौड़ी करण कार्य शुरू करा तो दिया, पर आधी अधूरी मुवाजे के साथ हुआ काम शुरू हो गया,धीरे धीरे उसमे से कुछ लोगो को मुवाजा मिला तो कुछ लोगो को आज तक मुवाजा नहीं मिला, गंडक विभाग द्वारा मिली जानकारी के अनुसार एक करोड़ रुपया मुआवजा बकाया है सरकार के पास —!

देवरिया अलीनगर के लोग बॉसबल्ली के सहारे शहर में आने और जाने को मजबूर है , कई वर्षो से वार्ड मेंबर बदल रहे है पर नहीं बदल रहा है तो ये बॉस का पूल,क्या नगरपालिका काम कराने को सक्क्षम नहीं है या, या फिर चुनाव नहीं होनी है,समझ नहीं आता,जिस मुद्दे पर नगरपालिका चुनाव लड़ती है उसी मुद्दे पर काम नहीं कराती है, वो मुद्दा है सफाई और विकास का–!

ये सच बात है कि हर कार्य कागजों में हो रहा है पर ऐसा क्यों ? क्या पैसे की भूख इतना बढ़ गया है कि जमीन पर कोई कार्य किये बिना ही मोटी रकम को भजाना एक पेशा हो चूका है जिसका नतीजा आम आदमी और शहर में रह रहे लोगो के जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा है, कोई भी विभाग अपना कार्य सही तरीके से नहीं कर रहा है, क्योंकि सरकार का डर अब रहा नहीं, अगर रहता तो स्वच्छ भारत अभियान अभी तक क्लीन चिट दे दिया होता … !

सरकार का एक ही मुद्दा है स्वच्छा भारत अभियान,पर इस बात पर जिले के अधिकारियो पर कोई फर्क नहीं पड़ता, तो बदलाव कहा से होगा , नगर पालिका, सफाई विभाग,जलकल विभाग , गंडक विभाग , सिचाई विभाग ,इन विभाग द्वारा कोई कार्य अच्छे तरीके से नहीं होता, और ना ही शहर से जुड़ी समस्या हल होता,सबसे बड़ी बात यहाँ विभाग में बैठे बाबुओ और अधिकारीयो से जब भी बात करिये तो जानकारी नहीं होने की बात कह कर मामला टालने की आदत हो चुकी है —!

देवरिया शहर में इस समय की सबसे बड़ी समस्या है सफाई,पर उसपर ही अमल नहीं हो रहा,एकतरफ नगरपालिका कूड़ा जला देती है तो दूसरी तरफ शहर की गन्दगी शहर में ही गिरा देती है, साफ सफाई के नाम पर सिर्फ खाना पूर्ति हो रहा है,हर कोई परेशान है इन सभी विभागों से, वही विभाग और कर्मचारी को पता नहीं की मेरा काम क्या है तो काम कहा से होगा, कुरना नाले में पुरे शहर की गन्दगी जाती है पर क्या उसकी सफाई करना उचित है या नहीं, पर विभाग की सुने तो नहीं जिसका नतीजा शहर प्रदूषित हवा में सांस लेने को मजबूर है, वहीं जिस काम के लिए जो विभाग बनाया गया है वो अपना काम नहीं कर रहा है तो बाकी भगवान भरोसे! अगर यही रवैया रहा तो आने वाले समय में देवरिया प्रदूषित जल और प्रदूषण में एक नंबर पर होगा।

देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 7007812095 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here