पथरदेवा हादसा : टेम्पो चालक का लखनऊ में इलाज के दौरान मौत

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

पथरदेवा पुलिस चौकी के निकट सोमवार की सुबह हुए दर्दनाक हादसे में गंभीर रुप से घायल टेम्पों चालक की मंगलवार को लखनऊ में पीजीआई में इलाज के दौरान मौत हो गई। टेम्पों चालक की मौत के बाद हादसे में मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। उधर चालक की मौत के बाद परिजनों में कोहराम है।

कंचनपुर-बघौचघाट मार्ग पर पथरदेवा पुलिस चौकी के समीप बोलेरो व टेम्पों की आमने सामने भिडंत हो गई थी। इसमें दो लोगों की मौत हो गई थी। जबकि चालक सहित चार लोग घायल हो गए थे। तीन घायलों का इलाज जिला चिकित्सालय में चल रहा है। जबकि गंभीर से रुप घायल चालक मुन्ना मद्धेशिया को चिकित्सकों ने सोमवार को मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। जहां स्थिति गंभीर देख चिकित्सक ने उसे पीजीआई रेफर कर दिया गया। इलाज के दौरान मंगलवार की सुबह मुन्ना मद्धेशिया (45) पुत्र स्व. राजेन्द्र निवासी कंचनपुर की मौत हो गई। मौत के बाद परिजन उसका शव लेकर देवरिया पहुंचे। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव को कब्जे में ले लिया। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव को परिजनों को सौंप दिया।

चालक की मौत के बाद परिवार में मातम

टेम्पो व बोलेरो की आमने-सामने हुई भिडंत में घायल टेम्पो चालक मुन्ना मद्धेशिया के मंगलवार की सुबह जब पीजीआई में इलाज के दौरान मौत की खबर परिजनों को मिली तो वे बदहवास हो गए। घर में मातम छा गया। घर में लोगों की चीख-पुकार से लोगों का कलेजा दहल जा रहा था। कंचनपुर निवासी मुन्ना मद्धेशिया टेम्पो चलाकर परिवार का भरण पोषण करता था। मृतक के तीन बेटे व एक बेटी है। बेटी नीलू की शादी हो गई है। जबकि उसका बड़ा बेटा शिव पानीपत में प्राइवेट नौकरी करता है। वहीं दो बेटे रवि व गोलू कंचनपुर चौराहे पर स्थित होटल चलाते हैं। मुन्ना की मौत की खबर से सभी लोग हतप्रभ हैं।

मृतक की पत्नी दुर्गा को पति के मौत के सूचना मिलते ही वह बेहोश हो जा रही थी। कम उम्र में ही बच्चों से पिता का साया उठने के बाद वह पश्चाताप करते हुए विलाप कर रही है। मौत की सूचना के बाद गांव व पास-पड़ोस के लोगों की भीड़ मुन्ना के दरवाजे पर लगी है। घटना से सभी लोग दुखी हैं।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here