महामारी ने उजाड़ दी राज्य पुरस्कार से पुरस्कृत शिक्षक के बच्चो की दुनिया, अभी तक कोई मदद नही

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

कोरोना की दूसरी लहर ने कई शिक्षक और कर्मचारियों की जिंदगी छीन ली। बहुतेरे ऐसे थे जिन्होंने पंचायत चुनाव में ड्यूटी की थी या चुनाव ड्यूटी का प्रशिक्षण लेने के दौरान संक्रमित हुए थे। इन्ही में से एक शिक्षक थे लार क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय रावतपार अमेठिया के शिक्षक आफाक अहमद। इनके निधन के बाद परिवार बेहाल है। पत्नी सूफिया इद्दत में बैठी हैं। उधर तीनों बच्चे बेहाल हैं। इन्हें न कोई आर्थिक सहायता मिली है और न ही मृत्योपरांत परिवार को मिलने वाली आर्थिक सहूलियतें हीं अभी तक नसीब हुई हैं।

आफाक अहमद की ड्यूटी पंचायत चुनाव में लगी थी। 11-12 अप्रैल को जिला मुख्यालय पर आफाक ने प्रशिक्षण लिया। 13 अप्रैल को इनकी तबियत खराब हुई तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लार में एंटीजन टेस्ट कराया। इसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई। आफाक ने तत्काल लखनऊ में अपने भतीजे वसीम को फोन किया और होम आइसोलेशन में रहरक इलाज कराने लगे। भतीजे बसीम बताते हैं कि 19 अप्रैल की तबीयतकुछ अधिक खराब हुई तो गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में दिखाया गया। पर बेड नहीं मिला। इसके बाद घर लेकर आ गए। 20 अप्रैल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया पर ऑक्सीजन का इंतजाम नहीं हो पाया। इससे परेशान होकर एक रिश्तेदार के माध्यम से पटना के एक निजी कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान 23 अप्रैल की रात में आफाक गुजर गए।

आफाक को दो मुख्यमंत्रियों से मिला था सम्मान

बेसिक शिक्षा विभाग में आफाक अहमद की कर्मठता के सभी कायल थे। उनके | परिश्रम और शिक्षा के प्रति समर्पण के चलते पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया था। उन्हें राज्य अध्यापक पुरस्कार और राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की और से आईसीटी | कक्षा के लिए भी पुरस्कार मिल चुका था। इसके अलावा जिलेस्तर पर भी वह कई | बार सम्मानित हो चुके थे।

अभी तक विभाग से नहीं मिली कोई मदद

वसीम के अनुसार अभी तक कोई मदद कहीं से नहीं मिली है। खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय लार में प्रक्रिया पूरी कर कागजात जमा करा दिए हैं। वहीं पंचायत चुनाव में निधन पर मिलने वाली रकम के लिए कागजात भी बीएसए कार्यालय में जमा करा दिया गया है लेकिन कोई मदद अभी तक नही मिला है ।

आप भी दे सकते है सहयोग

नीचे दिया गया खाता संख्या उनकी पत्नी सुफिया का है जिसके जरिए आप सहयोग कर सकते है

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here