भारत सरकार की कृषि अवसंरचना निधि के अन्तर्गत भारतीय स्टेट बैंक एवं बडौदा यू०पी० बैंक, देवरिया द्वारा प्रदान किया एक करोड एवं अस्सी लाख का ऋण


देवरिया टाइम्स। मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया है कि जनपद में भारत सरकार की कृषि अवसंरचना निधि के अन्तर्गत कृषक उत्पादक संगठन पूर्वान्चल पोल्ट्री उत्पादक कम्पनी एवं गौरीबाजार, मशरूम उत्पादक कम्पनी को क्रमशः एक करोड एवं अस्सी लाख का ऋण भारतीय स्टेट बैंक एवं बडौदा यू०पी० बैंक, देवरिया द्वारा प्रदान किया गया है। यह ऋण कृषि अवसंरचना निधि के अन्तर्गत एफपीओ को स्वीकृत होने वाला पूरे उत्तर प्रदेश में प्रथम ऋण है।

इस योजना में कृषि व्यायवसायियों एवं एफपीओ को कृषि अधारभूत संरचना जैसे कि कृषि गोदाम, कोल्ड स्टोरेज, बीज संयंत्र, दाल मिल, तेल मिल, चावल मिल इत्यादि लगाने के लिए दो करोड़ तक का ऋण बिना किसी प्रतिभूति के दिया जाता है। इस योजना में लिए गये ऋण में 3 प्रतिशत की ब्याज छूट भारत सरकार द्वारा दी जाती है। इसके अतिरिक्त एफपीओ के लिए उप्रतिशत की अतिरिक्त छूट का प्रावधान राज्य सरकार द्वारा किया गया है। इस योजना के अन्तर्गत अब-तक देवरिया जनपद में 6.32 करोड़ के 10ऋण अब तक स्वीकृत किये जा चुके है।


मुख्य विकास अधिकारी ने बताया है कि इस परियोजना का अनुप्रवर्तन जिले में जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में मासिक रूप से सहकारिता विभाग एवं नाबार्ड के साथ किया गया है। कृषि अवसंरचना निधि के बारे में अधिक जानकारी हेतु सहकारिता विभाग अथवा नाबार्ड से सम्पर्क किया जा सकता है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर