तहसील दिवस पर डीएम ने किया क्विक रिस्पांस टीम का गठन, कराया आधा दर्जन प्रकरणों का मौके पर समाधान


देवरिया टाइम्स।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने तहसील दिवस में आये फरियादियों की समस्या का त्वरित निस्तारण करने के लिए क्विक रिस्पॉन्स टीम का गठन किया और अधिकारियों को मौके पर भेज उनकी समस्या का समाधान कराया। उन्होंने कहा कि तहसील दिवस पर ऐसे कई प्रकरण आते हैं, जिनका समाधान प्रशासनिक हस्तक्षेप के द्वारा संभव है। क्विक रिस्पॉन्स टीम के द्वारा ऐसे प्रकरणों में कार्रवाई कर लोगों की समस्या का समाधान कराया गया है।

राज किशोर सिंह ने सूरचक में नहर से जुड़ी चकनाली में हुए अवैध निर्माण के संबंध में शिकायत की। जिलाधिकारी ने तहसीलदार सदर आनंद नायक के नेतृत्व में राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों की क्विक रिस्पांस टीम को मौके पर भेजा। तहसीलदार सदर ने चकनाली की पैमाइश कराई और सभी पक्षकारों एवं ग्रामीणों की उपस्थिति में चकनाली का सीमांकन करा दिया।

सूर्यभान तिवारी पुत्र शालिक तिवारी ने अपनी शिकायत में बताया कि ग्राम पकड़ी खास, तहसील देवरिया सदर में गाटा संख्या 337 के 0.113 में कोर्ट के आदेश के बाद पत्थर नसाब किया था, जिसे प्रतिवादियों ने उखाड़ फेंका। इस पर जिलाधिकारी ने नायब तहसीलदार धर्मवीर सिंह के नेतृत्व में क्विक रिस्पांस टीम को भेजा और सभी पक्षकारों की उपस्थिति में समस्या का निराकरण कराया।

तहसील दिवस पर बब्बन पुत्र मोतीलाल ग्राम सिधारी थाना तरकुलवा ने शिकायत की कि उनकी भूमि गाटा संख्या 615 में कुछ लोग नल और कंट्रेन के माध्यम से अतिक्रमण कर कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने जिलाधिकारी से अवैध अतिक्रमण हटाने की मांग की इस पर जिलाधिकारी ने राजस्व,पुलिस और चकबंदी विभाग के अधिकारियों को मौके पर जाकर वस्तु स्थिति का परीक्षण कर समस्या का समाधान कराने का निर्देश दिया। मौके पर गई क्विक रिस्पांस टीम ने सभी संबंधित पक्षों एवं ग्रामीणों की उपस्थिति में अवैध अतिक्रमण को हटा दिया।

निसार अंसारी पुत्र इशु अंसारी निवासी पिपरादउद ने समाधान दिवस में दिए आवेदन में क्रयशुदा भूमि पर कराये जा रहे निर्माण कार्य में कतिपय लोगों द्वारा अवरोध उत्पन्न करने की शिकायत की। जिलाधिकारी ने एसओसी चकबंदी के नेतृत्व में मौके पर क्विक रिस्पॉन्स टीम भेजी, जिसने समस्या का समाधान करा दिया।

सोन्दा निवासी सुशीला देवी ने भूमि विवाद से संबंधित एक प्रकरण में न्यायालय के आदेश का अनुपालन कराने के लिए आवेदन किया था। जिलाधिकारी ने नायब तहसीलदार मुकेश वर्मा के नेतृत्व में क्विक रिस्पॉन्स टीम को मौके पर भेजा। जांचोपरांत माननीय न्यायालय द्वारा दिये गए आदेश पर आयुक्त न्यायालय द्वारा स्टे दिए जाने की बात सामने आई।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन शासन की मंशानुरूप लोगों की शिकायतों का त्वरित निराकरण करने का प्रयास कर रहा है। तहसील दिवस सहित समस्त शिकायत निस्तारण प्रणाली के तहत आवेदनों का समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित किया जा रहा है। जनसमस्याओं के निस्तारण में अधिकारी तनिक भी लापरवाही न बरते।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर