नोडल अधिकारी ने किया विभिन्न स्थलों का निरीक्षण, दिए आवश्यक निर्देश


देवरिया टाइम्स।

शासन द्वारा नामित जनपद के नोडल अधिकारी एवं ग्राम विकास आयुक्त जीएस प्रियदर्शी ने आज महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज के नियंत्रणाधीन जिला अस्पताल का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने के लिए कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

नोडल अधिकारी ने मरीजों एवं उनके तीमारदारों की सुविधा के लिए ग्राउंड फ्लोर के अधिक से अधिक कक्ष उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ग्राउंड फ्लोर पर मौजूद ऐसे सभी कार्यालयों को ऊपर के फ्लोर पर शिफ्ट किया जाए, जिनका सरोकार मरीजों के ईलाज से सीधे-सीधे न जुड़ा हो।

उन्होंने मरीजों को मिल रही दवाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। कुछ मरीजों के तीमारदारों ने दवाओं की उपलब्धता पर असंतोष जताया। नोडल अधिकारी ने प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ राजेश बरनवाल को अस्पताल में उपलब्ध दवाओं की सूची दिनांक सहित दवा वितरण काउंटर के पास लगाने का निर्देश दिया, जिससे लोगों को अस्पताल में उपलब्ध दवाओं की जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि जिन दवाओं के स्टॉक में कमी हो उनकी मांग डीबीडीएमएस सॉफ्टवेयर के जरिए ऑनलाइन ससमय कर ली जाए। किसी भी दशा में मरीज को बाहर से महंगी दवा खरीदने के लिए मजबूर नहीं किया जाए।

नोडल अधिकारी ने मेडिकल कॉलेज के नवीन भवन में चल रही ओपीडी का भी निरीक्षण किया। इस दौरान मरीजों एवं उनके तीमारदारों के बैठने की एवं वेंटिलेशन के पर्याप्त व्यवस्था न होने पर उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण निगम के अधिशासी अभियंता को कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने अधिशासी अभियंता को इक्विपमेंट खरीदने के मद में आये 18 करोड़ रुपये की धनराशि तीन दिन के भीतर मेडिकल कॉलेज के खाते में ट्रांसफर करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि शासन ने जन सुविधा के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध कराई हुई है, उसके बावजूद बुनियादी जरूरतों का न होना घोर लापरवाही को दर्शाता है।

नोडल अधिकारी ने जिला अस्पताल में होने वाले समस्त टेस्टों को नाम एवं दर सहित दर्शनीय स्थल पर लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने अस्पताल के अंदर शौचालय में ताला बंद मिलने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। साथ ही साफ-सफाई की व्यवस्था को और प्रभावी बनाने का निर्देश दिया।

इसके पश्चात नोडल अधिकारी ने आदर्श प्राथमिक विद्यालय पार्वतीपुर का निरीक्षण किया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक शत्रुघ्न मणि ने उन्हें विद्यालय के विषय में जानकारी दी। विद्यालय में कुल 129 विद्यार्थियों का नामांकन है, जिसमें से 120 विद्यार्थी आज उपास्थिति थे। नोडल अधिकारी ने बीएसए को विद्यालय में छात्र अध्यापक अनुपात मानक के अनुसार करने एवं कंप्यूटर एडेड लर्निंग योजना के तहत बच्चों को पढ़ाने का निर्देश दिया। नोडल अधिकारी ने विद्यालय में बच्चों के खेलने की सामग्री एवं पीटी के लिए आवश्यक इक्विपमेंट्स
की उपलब्धता पर संतोष जताया। उन्होंने बच्चों से कई सवाल भी पूछे। कक्षा चार की छात्रा अंकिता चौरसिया ने नोडल अधिकारी को प्रदेश के सभी 75 जनपदों के नाम भी सुनाए।

नोडल अधिकारी ने रामगुलाम टोला स्थित कान्हा गोशाला का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय गौशाला में कुल 90 गोवंश मौजूद मिले, जिनमें 66 नर एवं 24 मादा गोवंश शामिल हैं।

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, सीएमओ डॉ राजेश झा, एडीएम प्रशासन गौरव श्रीवास्तव, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, सीओ श्रीयश त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी रवि शंकर राय, डीपीओ कृष्णकांत राय, सीवीओ पीएन सिंह, ईओ रोहित सिंह विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर