देश के भले के लिए मोदी सरकार जरुरी:अमित शाह

विज्ञापन

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में प्रत्याशी रमापति राम त्रिपाठी के समर्थन में हुई सभा में उन्होंने राहुल और माया-अखिलेश पर तीखे हमले बोले कहा कि आतंकवादी, देशद्रोही और भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की सोच रखने वालों को कड़ी सजा दिलाने के लिए फिर से मोदी सरकार बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पांच साल में नरेंद्र मोदी ने देश को सुरक्षित किया है। दुनिया में भारत का मान बढ़ाया है। आप चाहते हैं कि देश और मजबूत हो तो नरेंद्र मोदी को एक और मौका दीजिए। कहा कि ये लोग कश्मीर को देश से अलग करना चाहते हैं। राहुल बाबा और अखिलेश के मित्र उमर अब्दुल्ला बयान देते हैं कि कश्मीर में दूसरा प्रधानमंत्री होना चाहिए। ये एक देश में दो पीएम देखना चाहते हैं, देशद्रोह की धारा खत्म करना चाहते हैं। इन्हें देश की नहीं अपने वोट बैंक की चिंता है, मगर जब तक भाजपा कार्यकर्ताओं के तन में प्राण है, तब तक कोई भी ताकत कश्मीर को भारत से अलग नहीं कर सकती। चुनाव आएंगे-जाएंगे, जीतेंगे-हारेंगे, लेकिन मां भारती की सुरक्षा से भाजपा खिलवाड़ नहीं करेगी। मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनते ही अनुच्छेद-370 खत्म किया जाएगा। भारत मां के टुकड़े-टुकड़े करने की सोच रखने वालों को जेल में डालेंगे। घुसपैठियों को देश के बाहर निकालेंगे। उन्होंने कहा कि जो लोग मोदी सरकार के पांच साल का हिसाब मांग रहे हैं वे पहले अपनी पांच पीढ़ियों और 55 वर्षों का हिसाब दें। केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाएं गिनाते हुए शाह ने यूपी को देश का नंबर एक राज्य बनाने के लिए योगी-मोदी की जोड़ी को एक और मौका देने का आह्वान किया।
लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के लिए प्रचार शुक्रवार को शाम 5 बजे थम जाएगा। प्रचार के अंतिम समय में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी। अंदरूनी कलह की चर्चाओं पर विराम लगाते हुए सभी दिग्गजों ने एक साथ मंच पर आकर एकजुटता का संदेश दिया। अपने भाषणों के जरिए भी वे मनमुटाव मिटाकर देश और मोदी के नाम पर पार्टी प्रत्याशी को जिताने का आह्वान करते रहे। मौजूदा सांसद कलराज मिश्र के चुनाव मैदान से अलग होने और स्थानीय दावेदारों को दरकिनार कर बाहरी प्रत्याशी उतारे जाने से पार्टी के एक खेमे में नाराजगी थी। यही कारण रहा कि पूरा जोर लगाने के बाद भी माहौल नहीं बनता दिख रहा था। चर्चाएं आम थी कि पार्टी के ही कई लोग चुनाव में सहयोग नहीं कर रहे। भितरघात के खतरे से पार्टी नेतृत्व की चिंताएं बढ़ी हुई थीं। अलग-अलग खेमों में बंटे कार्यकर्ताओं को मनाने की कोशिश लगातार चल रही थी। चुनाव प्रचार के अंतिम समय में पार्टी के सभी नेताओं को मंच पर एक साथ लाकर कार्यकर्ताओं को एकजुटता का संदेश दिया गया। नामांकन के बाद पहली बार चुनावी सभा के मंच पर कलराज मिश्र नजर आए तो प्रदेश महामंत्री नीरज सिंह, प्रभारी मंत्री अनुपमा जायसवाल, कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही, रमापति शास्त्री, राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद, मुन्नू लाल कोरी, जिला प्रभारी श्रीराम चौहान, विधायक सुरेश तिवारी, जन्मेजय सिंह, जगदीश मिश्र उर्फ बाल्टी बाबा, नीरज शाही समेत तमाम नेता मंचासीन रहे। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष धनंजय राव, अंबरीश बबलू, राजेंद्र सिंह, प्रो. नरेंद्र मणि त्रिपाठी, कृपाशंकर उपाध्याय, देवेंद्र प्रताप शाही सहित अन्य नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाकर भाजपा की मजबूती का दावा किया गया।
देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 7007812095 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here