चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण मंत्री ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

प्रदेश सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने आज जनपद भ्रमण कार्यक्रम के दौरान जिला अस्पताल का निरीक्षण किया तथा आवश्यक निर्देश दिये।


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह ने कहा कि नियमित सेवाओं को चालू करने, कोविड 19 संबंधित व्यवस्थाओं एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों का जायजा निरीक्षण के दौरान लिया गया। उन्होने कहा कि हर एक पेशेंट के इलाज की समुचित व्यवस्था हो, बिना इलाज कोई भी मरीज अस्पताल से न जाये। ऐसी व्यवस्था बनायी जाये।

उन्होने कहा कि प्रदेश में कई गांवों में जाकर सामान्य तौर पर ऐसे गांव जहां बाहरी लोग ज्यादें आये है, उनकी रेण्डम सैम्पुलिंग कर जाॅच करायी गयी। इन सैम्पुलिंग की जाॅच में 58 जनपदों में कोई पाॅजीटिव नही निकला, जो एक अच्छा संकेत है। जनपदों में जाॅच मशीन भी उपलब्ध करा दी गयी है, जिससे यह अब पता चल जायेगा कि कोरोना है अथवा नही। हर हप्ते नये मशीन व कैप्सिटी बढाये जा रहे है। अत्याधिक जाॅच की व्यवस्था के लिये संसाधन विकसित किये जा रहे है। देश-प्रदेश अपने संसाधन से अपनी लडाई कोरोना वायरस के संक्रमण व बचाव हेतु लड रहा है। मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में अनेक कार्यक्रम निर्धारित व संचालित किया गया है, उसमें सफलता भी मिली है। संसाधनों को बढाया गया है। एक लाख 5 हजार बेड की व्यवस्था आकस्मिक तौर पर रखी गयी है। वेन्टीलेटर, स्क्रिनिंग, सैम्पुलिंग की व्यवस्था की गयी है। आज लगभग 12 हजार प्रतिदिन सैम्पुलिंग तथा 8 हजार पुल टेस्टिंग की जा रही है। इस प्रकार प्रतिदिन 20 हजार टेस्टिंग हो रही है। इसे और भी आगे बढाने व संसाधनो को विकसित कर इस बीमारी से लडनें के लिये प्रदेश पूरी तरह से तैयार है।
श्री सिंह ने कहा कि कोराना वायरस से बचाव के लिये हमे अपने जीवन शैली में बदलाव लाना होगा। मास्क/फेसकवर का प्रयोग, नियमित रुप से हाथ धोने व साफ-सफाई को अपनाना होगा तथा भीड-भाड इलाके में जाने से बचना होगा। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन के लिये 6 गज की दूरी के मानक का पालन करना होगा।


जिला अस्पताल के निरीक्षण में उन्होने टीकाकरण कार्य को प्राथमिकता के साथ किये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इसके द्वारा ही जे0ई0 व ए0ई0एस0 की बीमारी नियंत्रित किया जा सकता है। बताया गया कि टीकाकरण कार्य में यह जनपद प्रदेश में अग्रणी है। विधुत की उपलब्धतता के संबंध में उन्होने जानकारी की। बताया गया कि 24 घण्टे अस्पताल में विधुत उपलब्ध रहती है। इस दौरान उन्होने कोविड-19 के टेस्टिंग लैब, आईसोलेशन वार्ड, जे0ई0/ए0ई0एस वार्ड, महिला सर्जिकल वार्ड में पहुॅचकर जायजा लिया। उन्होने कहा मरीज के साथ एक समय एक ही तामीरदार को रहना चाहियें। उन्होने सी0एम0एस0 एवं चिकित्साधिकारियों को मरीजों का इलाज समुचित रुप से करने तथा किसी भी प्रकार की कोताही न बरतने का निर्देश दिया।


निरीक्षण के समय जिलाधिकारी अमित किशोर, पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल सिंह, सी0एम0ओ0 डा0 आलोक पाण्डेय, सी0एम0एस0 डा0छोटेलाल, एस0डी0एम0 सदर दिनेश कुमार मिश्र, क्षेत्राधिकारी निष्ठा उपाध्याय, ए0सी0एम0ओ0 डा0डी0वी0शाही, सुरेन्द्र सिंह, राजेन्द्र प्रसाद, डी0पी0एम0 राजेश कुमार, पुनम गुप्ता, कोतवाल टी0जे0 सिंह सहित अन्य चिकित्साधिकारी, स्वास्थ्य कर्मी व संबंधित व्यक्ति उपस्थित रहे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here