मकान मालिकों को किरायेदारों का सम्पूर्ण विवरण निर्धारित प्रारुप पर भर कर स्थानीय थाने में करना होगा जमा


देवरिया टाइम्स

जिला मजिस्ट्रेट आशुतोष निरंजन ने बताया है कि अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन गोरखपुर द्वारा यह निर्देश प्राप्त हुआ है कि अपराधी विभिन्न प्रकार के अपराधों को कारित करने के पश्चात् अपनी पहचान छिपाने के लिए जगह बदल-बदल कर किरायेदार रूप में निवास करने लगते हैं। मकान मालिक भी किरायेदारों के सम्बन्ध में बिना सत्यापन कराये किरायेदार को रख लिया जाता है, इसके दृष्टिगत अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश रोकथाम पर हेतु किरायेदारों सत्यापन किया जाना आवश्यक है। अपराध नियंत्रण लोक सुरक्षा के लिए यह भी आवश्यक के सत्यापन की कार्यवाही निरंतर प्रचलित रहे। मकान मालिकों द्वारा किरायेदारों के सत्यापन रुचि न लेने के कारण किरायेदारों का पुलिस वैरीफिकेशन सम्भव नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में धारा 144 सी०आर0पी०सी० के अन्तर्गत आदेश जारी किया जाना आवश्यक हो गया है। तद्क्रम में पुलिस अधीक्षक देवरिया द्वारा किरायेदारो का सत्यापन कराये जाने हेतु धारा 144 सी.आर.पी.सी. के अन्तर्गत आदेश जारी करने का अपेक्षा की गयी है।


जिलाधिकारी ने बताया कि चूंकि यह आदेश तुरन्त जारी किया जाना आवश्यक है तथा जिनके ऊपर लागू होगा उन्हे तत्काल सूचित करने अथवा सुनवाई का अवसर दिया जाना सम्भव नहीं है। अतः यह आदेश एकपक्षीय रूप से कतिपय प्रतिबंधों के साथ निर्गत किया गया है कि जनपद के समस्त मकान मालिकं किसी व्यक्ति को किरायेदार के रूप में अपने मकान में अध्यासित कराता है तो सम्बन्धित किरायेदार का सम्पूर्ण विवरण निर्धारित प्रारूप पर भर कर अपने स्थानीय थाने में देगा और उसकी पावती प्राप्त कर सुरक्षित रखेगा। इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर