उद्यान विभाग की गूगल मीट द्वारा की गयी समीक्षा में डीएम ने योजनाओं को तत्परता के साथ क्रियान्वित किए जाने के दिए निर्देश


देवरिया टाइम्स

उद्यान विभाग की गूगल मीट द्वारा समीक्षा में जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने उद्यान अधिकारी को निर्देश दिया है कि संचालित योजनाओं को पूरी तत्परता से क्रियान्वित करें व उसका लाभ कृषकों तक पहुॅचाए इसमें किसी भी स्तर पर कोई शिथिलता न बरते।
समीक्षा के दौरान जिला उद्यान अधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना ‘‘पर ड्राप मोर क्राप’’ माइक्रोइरिगेशन योजना में ड्रिप सिचाई 692 हेक्टेयर, स्प्रिंकलर सिचाई 1133 हेक्टयर कुल 1825 हेक्टेयर का भौतिक लक्ष्य निर्धारित है, जिसमें लघु सीमान्त कृषकों को 90 प्रतिशत तथा सामान्य कृषकों को 80 प्रतिशत अनुदान देय है। लाभार्थी कृषकों का चयन एवं पंजीकरण का कार्य प्रचलित है। अभी तक 25 हेक्टयर क्षेत्रफल हेतु कृषकों का पंजीयन कराया गया है। जिलाधिकारी द्वारा इस कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए।


इसी प्रकार राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में खरीफ मौसम में कराए जाने वाले कार्यक्रमों का भौतिक लक्ष्य जिसमें नवीन उद्यान रोपण कार्यक्रम आम, अमरुद, केला, पपीता हेतु 100 हेक्टेयर का लक्ष्य है। आम , अमरुद पर 50 प्रतिशत तथा केला, पपीता की बागवानी पर 40 प्रतिशत अनुदान डीबीटी के माध्यम से अनुमन्य है। इसी योजना में प्याज की खेती, प्याज प्रदर्शन का कुल 30 हेक्टेयर कराए जाने का लक्ष्य निर्धारित है, इसमें चयनित कृषकों को बीज उपलब्ध कराया जा रहा है। साकभागी एवं मशाला की खेती हेतु चयनित कृषकों को लागत का 40 प्रतिशत अनुदान उपलब्ध कराया जाता है।


अनुसूचित जाति/जनजाति कृषकों हेतु औद्योगिक विकास योजना में साकभाजी, मशाला की खेती, फूलो की खेती आदि पर डीबीटी के माध्यम से 90 प्रतिशत अनुदान देय है। कृषको के चयन के पंजीकरण की कार्यवाही कराते हुए योजनाओ को क्रियान्वित कराने की कार्यवाही की जा रही है। जिलाधिकारी ने पूरी पारदर्शिता के साथ कृषको क उद्यान विभाग की योजनाओं को पहुॅचाये जाने के निर्देश दिए है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर