अगर हैं हौसला कुछ कर गुजरने की, तो मंजिल पाने से कोई नही रोक सकता

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

संतोष विश्वकर्मा

देवरिया के रहने वाले रंजन कुमार पासवान जो एक दिव्यांग है,पर एक अलग पहचान के साथ अपने हौसले से देवरिया का नाम रोशन कर दिए–!

रंजन कुमार पासवान पिता रामेश्वर पासवान परशुराम चौक भजौली कालोनी देवरिया के रहने वाले है, और ये टी -२० क्रिकेट दिव्यांग प्रीमियर लीग जो चंढीगढ़ व् सोनीपत में खेले जायेगे मुकाबले में अपना स्थान बना कर देवरिया का नाम रौशन कर दिए, रंजन कुमार का दिल्ली डायनामोज टीम में चुना गया और इस टीम में बन कर क्रिकेट खेलेंगे–!

डीपीएल में कुल 5 टीमों ने हरियाणा हरिकेन,बैंगलुरू वारियर्स, मुम्बई चैप्स ,दिल्ली डायनामोज और कोलकाता टाइगर्स के देश भर से लगभग 100 दिव्यांग क्रिकेटर्स भाग लिए है—!

आईसीसी T20 वर्ल्ड कप और 2018 आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के विजेता टीम भारत का हिस्सा रह चुके एस. श्रीसंथ दिव्यांगों की टी- 20 क्रिकेट लीग दिव्यांग प्रिमियर लीग (डी.पी.एल) के ब्रांड एम्बेसडर बनकर दिव्यांग क्रिकेटरों को प्रोत्साहित करेंगे–!

डीपीएल का आयोजन डिफ्रेंटली ऐबल्ड क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ हरियाणा और आल इंडिया क्रिकेट एसोसिएशन फ़ॉर फिजिकली चैलेंज्ड द्वारा 15 से 18 अप्रैल को चंडीगढ़ और सोनिपत में आयोजित किया गया है—!

आपको बताते चले की रंजन की शुरुआती पढ़ाई होली एंजल पब्लिक स्कूल सीसी रोड देवरिया से शुरू हुआ, उसके बाद युग निर्माण स्कूल से भी इन्हों ने शिक्षा लिया, फिर हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की पढ़ाई श्री राम स्वरूप इंटरमीडिएट कालेज देवरिया से हुई,और इन्होने ग्रेजुएशन स्वामी विवेकानंद सुभर्ती यूनिवर्सिटी से पढ़ाई पूरी की, और इसके साथ-साथ इनका खेल में रुचि भी बढ़ता गया, फिर 2013 में स्टेडियम देवरिया से कोच नीरज बाजपेई के अंडर में रह कर शुरू हुआ इनके हौसलो का एक सफर–!

और इसी सफर में रंजन कुमार यूपी खेले उसके बाद ट्रायल शुरू हो गया, 2020 का ओल्ड कप में भी ट्रायल दिए चड़ीगढ़, फिर धीरे धीरे कदम बढ़ता गया और अब डीपीएल टी -20 क्रिकेट दिव्यांग प्रीमियम लीग चड़ीगढ़ व सोनीपत में खेलने जा रहे है–!

यह दिव्यांग क्रिकेटर्स करोड़ो लोगों के लिए साहस और हिम्मत के उदाहरण है–!

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here