तपती धूप में गर्मी की मार, एक घूंट से मिली कुछ देर की राहत

0
92
विज्ञापन

संतोष फोटोजर्नलिस्ट देवरिया-

अचानक कैद ये तस्वीर सुबाष चौक देवरिया की है और इनका नाम राम निवास सैनी है जो देवरिया में ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी निभाते है, तप्ती धुप में गला सूखने पर कुछ इसतरह पानी को चहरे पर गिरा कर और दो घुट के साथ इस गर्मी में राहत ले रहे है , वही आज के परिवेश में जहा यातायात पुलिस का मुख्य कार्य क्षेत्र में यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाना है. दुर्घटना होने पर भी यातायात पुलिस व्यवस्था संभालती है एंबुलेंस बुलाती है, वीआईपी दौरे पर भी शहर के रूट का डायवर्जन करना हो वाहनों की चेकिंग करनी हो आवागमन को सुचारू रूप से चलाना हो, राजनीतिक संगठन का रैली , रोड शो ..इन सब पर भी यातायात पुलिस ट्रैफिक व्यवस्था को देखती है ताकि ऐसे कार्यक्रमों से आम जनमानस को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े. यातायात नियमों के प्रति जागरूकता संदेश देने के अलावा पशु तस्कर, वाहन चोर इन सब पर भी यातायात पुलिस की नजर रहती है. आए दिन जनसंख्या बढ़ने से वाहनों की संख्या सड़कों पर बढ़ने से यातायात पुलिस पर काफी दबाव बढ़ा है.
संख्या बल कम होने की वजह से यातायात पुलिस को कार्य करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. गर्मी सर्दी बरसात आंधी तूफान कोई भी मौसम हो कोई भी परिस्थिति हो ट्राफिक पुलिस दिन रात आपके लिए खड़ी रहती है ताकि आप घर सुरक्षित पहुंच सके. आपको भी ट्रैफिक पुलिस को एक दोस्त की तरह मानना चाहिए और यातायात नियमों का पालन कर उनका सहयोग करना चाहिए,

देवरिया में कड़ी धूप में ड्यूटी करने के बाद सुकून की एक घुट छांव की तलाश में या तो किसी दुकान का सहारा या बाउंडरी वाल का, पुरे शहर में कही धुप से बचने के लिए इन लोगो के लिए कोई सुविधा नहीं है, वही ट्रैफिक सिस्टम पर सवाल उठते है पर कोई एक बार सोचता नहीं की ये डियूटी किस प्रस्थिति में कर रहे है यानि सुबह से शाम तक पीं, पीं के आवाज और ऊपर से तेज धूप और जमींन की तपन, ना छुपने की जगह ना पानी की, और इनपर अधिकारियो का रुआब इस कदर की मनो एक दिन में पूरा सिस्टम सूधार देंगे, 70% लोग बदलना नहीं चाहते पर दूसरों पर सवाल करना जरूर जानते है.

मैं बताना चाहूंगा की देवरिया ट्रैफिक सिस्टम में जब से रामबृक्ष यादव जी आये तब से अभी तक कितने क्राइम रोड पर रंगे हाथ पकड़े,और ऑन द स्पॉट खुलासा किये, लेकिन फिर भी कुछ लोग उनको आरोपों में घेरते देखते नजर आये, पर खुद में बदलाव लाने की कोशिश नहीं किये, इस तस्वीर को देख कर मैं मजबूर हो गया लिखने पर की कमिया कहां है और आरोप कहां लगाया जाता है —!

देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 7007812095 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here