उम्मीद:भटनी में ओवरब्रिज निर्माण की जगी उम्मीद,शासन ने एस्टीमेट भेजा


देवरिया टाइम्स

भटनी इलाके के लिए रेलवे ढाले नासूर बन गए हैं। 24 घंटे में छह से दस घंटे तक ढाला बंद रहने से लोगों को दुश्वारियां झेलनी पड़ रही हैं। रेलवे ढाला पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए सेतु निगम ने एक माह पहले एस्टीमेट बनाकर शासन को भेजा है। जिससे लोगों की की उम्मीद बढ़ गई है।

भटनी इलाके में रेलवे लाइन के एक तरफ से दूसरे तरफ जाना आसान नहीं है। भटनी रेलवे स्टेशन के पूर्व 115ए व 116, पश्चिम तरफ 117 व 118 के अलावा नोनापार रेलवे स्टेशन के समीप 115 सी नंबर रेलवे ढाला है। गोरखपुर-छपरा व भटनी-वाराणसी रेलखंड पर 24 घंटे में करीब 120 से अधिक सवारी व मालगाड़ियां गुजरती हैं और सभी ढाले करीब छह से दस घंटे तक बंद रहते हैं। सर्वाधिक भीड़ 115ए पर रहती है। यह ढाला आठ से दस घंटे तक तक बंद रहता है। इसके बंद होने से भटनी बाजार, घांटी, भिगारी बाजार के अलावा बिहार के गोपालगंज जिले के लोगों को सलेमपुर, देवरिया, गोरखपुर, बलिया आदि के लिए जाने पर दुश्वारियां उठानी पड़ती हैं। भटनी नगर के 115 ए नंबर ढाले पर ओवरब्रिज निर्माण का मुद्दा फरवरी में सांसद डा.रमापति राम त्रिपाठी ने संसद में उठाया था। जिसके बाद ढाला पर ओवरब्रिज निर्माण की उम्मीद जगी है।42.08 करोड़ रुपये का भेजा एस्टीमेट।

उप्र राज्य सेतु निगम लिमिटेड ने 115ए नंबर रेलवे ढाला पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए 42.08 करोड़ का एस्टीमेट तैयार किया। उप परियोजना प्रबंधक एसपी सिंह ने 14 जून को एस्टीमेट मुख्य परियोजना प्रबंधक गोरखपुर व महाप्रबंधक आगणन को भेज दिया।

-एस्टीमेट स्वीकृति के लिए भेज दिया गया है। शासन में यदि पैरवी हो तो स्वीकृति जल्द मिल सकती है। धन मिलने के बाद ही कार्य शुरू होगा। एसपी सिंह

उप परियोजना प्रबंधक

सेतु निगम

जागरण

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर