सरकारी योजनाओं का लाभ उठाएं किसान: एडीएम


देवरिया उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक माह के तीसरे बुधवार को आयोजित किसान दिवस अपर जिलाधिकारी (वि० / रा०) नागेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार, देवरिया में किया गया।
सर्वप्रथम उप कृषि निदेशक, विकेश कुमार ने गत माह आयोजित दिवस की अनुपालन आख्या से उपस्थित कृषकों को अवगत कराया गया।

किसान दिवस की बैठक में कृषकों को कृषि विभाग में संचालित योजनाओं के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया तथा उपस्थित अधिकारियों से अपने अपने विभाग में संचालित योजनाओं के बारे में कृषकों को बताने हेतु कहा गया। मुख्य पशुचिकित्साधिकारी, देवरिया ने किसान दिवस की बैठक में विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में कुल 26 पशुचिकित्सालय है जहां पर मुख्य रूप से पशु टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान कराया जाता है विभाग में भेड़, सुअर, बकरी, पोल्ट्री पालन पर 50 प्रतिशत का अनुदान है। इच्छुक किसान भाई किसी भी जन सेवा केन्द्र से आन लाइन आवेदन कर सकते है।


जिला उद्यान अधिकारी ने किसान दिवस की बैठक में विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि विभाग में बागवानी, साक-भाजी की खेती के लिए रजिस्ट्रेशन कराया जा रहा है।
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अन्तर्गत ड्रिप और स्प्रिंकलर सेट पर 90 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है। इसी तरह से विभाग में पॉली हाउस, मिनी ट्रैक्टर पावर टिलर एवं पावर स्प्रेयर पर 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है। रमेश मिश्रा ने पूछा कि आप द्वारा जनपद में जहां भी कोई कार्य कराया गया है वहां की सूची मंगायी जाय व किसानों को विजिट करायें जिसे देखकर और भी किसान खेती करायें।

जिला कार्यकारी अधिकारी, मत्स्य द्वारा बताया गया कि विभाग में प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के अन्तर्गत तालाब निर्माण, बायोफ्लाक्स निर्माण, आर०ए०एस० जिन्दा मछली विकय केन्द्र पर अनुदान देय है। इसके लिए किसान भाई विभाग के पोर्टल पर ऑन लाइन आवेदन करके प्रथम आवक प्रथम पावत के आधार पर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसमें सामान्य जाति वर्ग के लिए 40 प्रतिशत एवं महिला / अनु जाति के वर्गों को 60 प्रतिशत अनुदान देय है। मछुआ दुर्घटना बीमा योजना इसके अन्तर्गत किसान भाई फिश फार्मर एप पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा जिसमें किसानों को मृत्यु की दशा में रू० 05 लाख, अपंगता की दशा में 02 लाख 50 हजार रू0 एवं चोट लगने पर 25 हजार रूपया दिया जाता है। साथ ही बताया गया कि निषादराज नाव बोट जल योजना विभाग में आने वाली है जिसके अन्तर्गत मछुआरों को 40 से 50 प्रतिशत अनुदान पर नाव, बोट, जाल दिया जायेगा। इसके लिए किसान भाई विभाग में आकर पंजीकरण करा लें।


उप क्षेत्रीय विपणन अधिकारी, देवरिया द्वारा बताया गया कि जनपद में कुल 15 ऐसे कृषक हैं जिनका बैंक खाता एन०पी०सी०आई० से लिंक न होने अथवा अंगूठा मैच नहीं होने के कारण गेहूं खरीद का पैसा नहीं भेजा जा सका है। इस पर भुगतान की प्रक्रिया चल रही है शीघ्र ही समस्त कृषकों का भुगतान करा दिया जायेगा। साधन सहकारी समिति, कुक्कुरघाटी में नकली खाद पकड़े जाने पर दुकान को सील कर दिया गया था। अब किसानों को खाद लेने के लिए दूर जाना पड़ता है जिससे किसान काफी परेशान है। उसी ग्राम सभी में ही कोई समिति स्थापित करायी जाय जिससे कि किसानों में उर्वरकों का वितरण आसानी से हो सके।
अध्यक्ष, भारतीय किसान यूनियन, देवरिया राघवेन्द्र प्रताप शाही ने अपने आवेदन पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है कि इस वर्ष बारिस कम होने के कारण किसानों की फसल सूख रही है। जिलाधिकारी की तरफ से जनपद को सूखाग्रस्त घोषित करने हेतु शासन को पत्र लिखा जाय। अपर जिलाधिकारी (वि० / रा० ) द्वारा किसान दिवस की बैठक में कृषकों को आश्वासन दिया गया कि बैठक में उपस्थित सभी विभागों के अधिकारियों द्वारा उठायी गयी समस्याओं का त्वरित निस्तारण किया जायेगा।
अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) द्वारा अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया गया कि जनपद की सभी नहरों में पानी टेल तक पहुंचायें जिससे किसान अपने धान फसल की सिंचाई कर सकें जिला अग्रणी प्रबन्धक, देवरिया को निर्देशित किया गया कि किसान क्रेडिट कार्ड बनाने हेतु आवश्यक दस्तावेज हेतु एक चेक लिस्ट बनाये जिससे किसान भाई उन दस्तावेजों के साथ बैंकों में के०सी०सी० हेतु आवेदन करें और प्रपत्रों के अभाव में विलम्ब न हो।
अंत में समस्त उपस्थित अधिकारियों एवं किसान बन्धुओं का आभार व्यक्त करते हुए बैठक का समापन किया गया।


किसान दिवस की बैठक में मुख्य राजस्व अधिकारी, देवरिया, विकेश कुमार, उप कृषि निदेशक, सीताराम यादव, जिला उद्यान अधिकारी नन्दकिशोर, जिला कार्यकारी अधिकारी, मत्स्य, अधिशासी अभियन्ता, नहर, अधिशासी अभियंता, नलकूप, अधिशासी अभियन्ता विद्युत, देवरिया, अग्रणी जिला प्रबन्धक, देवरिया, जिला समन्वयक, एग्रीकल्चर इन्श्योरेंश कम्पनी लि० आदि विभागों के अधिकारी गण एवं कृषक राघवेन्द्र प्रताप शाही, भा०कि०यू०. कौशलेश नाथ मिश्रा, अतुल कुमार मिश्रा, सदानन्द यादव, भा०कि०यू०. बेचू कुशवाहा, विनय सिंह, मारकण्डेय सिंह व अन्य कृषक गण किसान दिवस में उपस्थित थे। किसान दिवस की बैठक में जिला विकास प्रबन्धक, नाबार्ड, प्रबन्धक, दुग्ध, उसरा एवं कृषि ज्ञान केन्द्र व कृषि विज्ञान केन्द्र, मल्हना अनुपस्थित थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर