मरीजों के ईलाज में न हो लापरवाही: सूर्य प्रताप शाही


देवरिया टाइम्स

डीएम ने कोविड कन्ट्रोल रुम के कार्यो सहित कोविड प्रबंधन के कार्यो की दी विस्तृत जानकारी, चिकित्सकों को मरीजों के इलाज समुचित रुप से किये जाने का दिया निर्देश

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, गन्ना विकास उपाध्यक्ष नीरज शाही एवं जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के साथ आज जिला अस्पताल के प्रिज्मटिव कोविड वार्ड, मेडिकल वार्ड, टीकाकरण, एमसीएच विंग में पहुॅच कर इलाज आदि कार्यो का जायजा लिया एवं मरीजों से उनके स्वास्थ्य आदि के जानकारी के साथ ही हो रहे इलाज एवं कठिनाईयों की जानकारी कर आवश्यक निर्देश सीएमओ/सीएमएस को दिये। इस दौरान इमरजेन्सी के निकट तामीरदारों के भोजन उपलब्ध कराये जाने हेतु लगाये गये शिविर में पहुॅच कर जरुरतमंदों को भोजन भी वितरित किया। इसके उपरान्त कलक्ट्रेट में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड सेन्टर पहुंच कर कार्य प्रणालियों का जायजा लिया।


कृषि मंत्री श्री शाही प्रिज्मटिव कोविड वार्ड में पहुंच कर मरीजों से दवा, इलाज की जानकारी के संबंध मे उनसे पुछताछ की। इस वार्ड में 40 मरीज भर्ती थे। इसके साथ ही प्रस्तावित एक नये प्रिज्मटिव वार्ड का भी निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिये। उन्होने मेडिकल वार्ड का भी निरीक्षण कर भर्ती मरीजो से कुशल क्षेम लिया। टीकाकरण कार्यो का भी निरीक्षण किया। इसके उपरान्त उन्होने एमसीएच विंग में पहुंच कर ग्राउण्ड फ्लोर में स्थापित कन्ट्रोल सेन्टर के सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से एल-2 में भर्ती मरीजों से बात कर इलाज आदि की जानकारी किये एवं उनसे उनके स्वास्थ्य के संबंध में भी पुछताछ किये। दवा, इलाज, साफ-सफाई आदि के संबंध में मरीजों से बातचीत कियें। उन्होने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मरीजों का इलाज समुचित सही तरीके से हो, इसे प्रत्येक दशा में सुनिश्चित किया जाये। दवाओ एवं आवश्यक संसाधनो की उपलब्धता की भी कोई कमी नही होनी चाहिये, इसे प्रत्येक दशा में सुनिश्चित करें। चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी नियमित रुप से वार्डो में जाये और मरीजों का इलाज सुनिश्चित करते रहे। इसमें किसी भी प्रकार की कोई कोताही नही होनी चाहिये।


इसके उपरान्त कृषि मंत्री कलक्ट्रेट स्थापित कोविड कन्ट्रोल रुम में पहुॅचकर कार्य प्रणालियों एवं व्यवस्थाओं की जानकारी किये। एक-एक कार्य बिन्दुओं की गहनता से पुछताछ कियें। शिकायत पंजिका का अवलोकन किया एवं 3 शिकायतकर्ताओं से औचक रुप में उनके फोन पर बातचीत कर उनकी समस्याओं एवं उसके समाधान की जानकारी किये। सर्वप्रथम कृषि मंत्री ने पिपरादौला कदम निवासी सौरभ, आदित्य एवं महुआडीह निवासी इमरान से दर्ज उनके मोबाइल नम्बर के माध्यम से उनकी शिकायतों एवं निस्तारण की जानकारी किये एवं उनके समस्याओं का समाधान किया गया। इस दौरान कोविड कन्ट्रोल रुम के कार्यो का फीडबैक लिया।


जिलाधिकारी श्री निरंजन ने बताया कि इस कन्ट्रोल रुम मे सभी विभिन्न जरुरतो के लिये दूरभाष नम्बर प्रचलित किये गये है। होम आइसोलेशन, टेलीमेडिसीन, एम्बुलेन्स सेवा, चिकित्सकीय परामर्श सहित आवश्यक दवाओं की उपलब्धता आदि के संबंध में आने वाले सभी समस्याओं/शिकायतो का संज्ञान लेते हुए उसे पंजिका पर अंकन करने के साथ ही उसका त्वरित रुप में समाधान कराया जाता है। साथ ही कोविड मरीजो के इलाज, दवाओं आदि की उपलब्धता को लेकर समुचित प्रबंधन किये जा रहे है। प्रतिदिन गूगल मीट के माध्यम से इसकी समीक्षा की जाती है। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, राजस्व सहित सभी जुडे विभाग अपनी पूर्ण भागीदारी व समन्वय के साथ कोविड प्रबंधन के कार्यो में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागो को इस दौरान मरीजों का बेहतर से बेेहतर इलाज किये जाने के निर्देश दिये। कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की कोई कोताही कदापि न हो। उन्होने मंत्री जी द्वारा निरीक्षण में दिये गये निर्देशों का अनुपालन कराये जाने हेतु उन्हे आश्वस्त भी किया।
निरीक्षण के दौरान सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, सीएमएस डा ए एम वर्मा, अन्य चिकित्साधिकारी गण, स्वास्थ्य कर्मी व जुडे अन्य विभागो के अधिकारी आदि उपस्थित रहे। कोविड कन्ट्रोल रुम में टेलीमेडिसीन चिकित्सा प्रभारी डा जे पी शर्मा, विजय श्रीवास्तव सहित तैनात अन्य अधिकारी/कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर