डीएम ने कीटनाशी नमूने को विश्लेषणोपरान्त मिसब्राण्डेड घोषित होने पर विक्रेता, उत्पादनकर्ता फर्म के प्रबंधक एवं केमिस्ट के विरूद्ध वाद संस्थित करने का दिया निर्देश


देवरिया टाइम्स। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह द्वारा कीटनाशी नमूने को विश्लेषणोपरान्त मिसब्राण्डेड घोषित होने पर विक्रेता मेसर्स-कृषक भारती, प्रो०- मंजू देवी, बंगरा बाजार, बनकटा जनपद देवरिया तथा उत्पादनकर्ता फर्म- मेसर्स, यू०पी०एल० लिमिटेड 3-11 जी०आई०डी०सी० वापी0-396195 गुजरात के प्रबंधक एवं केमिस्ट के विरूद्ध वाद संस्थित करने का निर्देश दिया गया है।


जिलाधिकारी ने बताया है कि मेसर्स – कृषक भारती, प्रो०- मंजू देवी, बंगरा बाजार, बनकटा जनपद देवरिया द्वारा उत्पादनकर्ता फर्म- मेसर्स, यू०पी०एल० लिमिटेड 3-11 जी०आई०डी०सी० वापी0-396195 गुजरात के उत्पाद CARBENDAZIM 12%+MANCOZEB 63% WP बैच सं०-LSJSAF 7509 उत्पादन तिथि – 04 दिसंबर 2021 तथा अंतिम प्रयोग तिथि – 03 दिसंबर 2023, जो विक्रय हेतु उपलब्ध था, के स्टाक से रतनशंकर ओझा कीटनाशी निरीक्षक / जिला कृषि रक्षा अधिकारी देवरिया द्वारा 17 अगस्त 2022 को कीटनाशक का नमूना संग्रहित किया गया जिसे जिला कृषि रक्षा अधिकारी कार्यालय के द्वारा कीटनाशी विश्लेषक गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला, इंडस्ट्रियल एस्टेट वाराणसी को प्रेषित किया गया। कीटनाशी नमूने के विश्लेषणोपरान्त कीटनाशी विश्लेषक गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला, इंडस्ट्रियल एस्टेट वाराणसी द्वारा उक्त कीटनाशक नमूने को मिसब्राण्डेड घोषित किया गया है।


उक्त रिपोर्ट के क्रम में जिलाधिकारी द्वारा कीटनाशी अधिनियम की धारा-31 ( 1 ) में निहित प्राविधान के अन्तर्गत शासनादेश के अधीन प्रदत्त शक्ति का प्रयोग करते हुए कीटनाशी अधिनियम 1968 की धारा-29-1 (ए) के अन्तर्गत उपरोक्त विक्रेता तथा उत्पादनकर्ता के प्रबंधक एवं केमिस्ट के विरूद्ध वाद संस्थित करने का निर्देश दिया गया है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर