डीएम ने अभियोजन विभाग को आईसीजेएम प्रोजेक्ट पर उत्कृष्ट कार्य करने एवं पूरे भारतवर्ष में प्रथम स्थान पाए जाने पर प्रदान किए गए पुरस्कार प्रमाण-पत्र को किया वितरित


देवरिया टाइम्स। गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के अभियोजन विभाग को आईसीजेएम प्रोजेक्ट पर उत्कृष्ट कार्य करने एवं पूरे भारतवर्ष में प्रथम स्थान पाए जाने पर प्रदान किए गए पुरस्कार प्रमाण-पत्र को जिलाधिकारी जितेन्द्र कुमार सिंह ने संयुक्त निदेशक अभियोजन अतुल ओझा, ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी राजीव कुमार तथा ई-प्रॉस्क्यूशन नोडल अधिकारी अनन्त त्रिपाठी एवं टीम को आज प्रदान किया गया।


इसके साथ ही साथ स्वतन्त्र संगठन द्वारा प्रदत्त देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान SKOCH AWARD GOLD जो उत्तर प्रदेश अभियोजन विभाग के ई-प्रॉस्क्यूशन पोर्टल पर उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए वर्ष 2022 में प्रदान किया गया है, से सम्बन्धित प्रमाण-पत्र भी जिलाधिकारी द्वारा प्रदान किया गया। उत्तर प्रदेश अभियोजन विभाग डिजिटल इंडिया मिशन के तहत लगभग 01 करोड़ डिजिटल एन्ट्री के साथ भारतवर्ष में पहले स्थान पर है। अन्य राज्य उत्तर प्रदेश से बहुत पीछे है। ई-प्रॉस्क्यूशन पोर्टल पर दिन प्रतिदिन के अभियोजन कार्यों को सम्बन्धित सभी अभियोजन अधिकारी डिजिटली फीड करते है, जिससे कार्य विविधता, पारदर्शिता एवं सुगमता परिलक्षित होती है। आपराधिक न्याय प्रशासन को और अधिक प्रभावशाली तथा सशक्त बनाये जाने में ई-प्रॉस्क्यूशन का महत्वपूर्ण योगदान है ।


जिलाधिकारी ने ई-प्रॉस्क्यूशन पोर्टल पर जनपद देवरिया की बेहतर स्थिति पर संतोष व प्रसन्नता व्यक्त की तथा संयुक्त निदेशक अभियोजन अतुल ओझा द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि उत्तर प्रदेश का अभियोजन विभाग सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में प्रथम पूर्ण रूप से डिजिलाइस्ड विभाग बन गया है।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर