डीएम तथा सीडीओ ने गोपाष्टमी के अवसर पर की गौ-सेवा


देवरिया टाइम्स।
जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह नहीं आज पीपर पाती स्थित कान्हा गौशाला का निरीक्षण किया और ठंड से गोवंशों के बचाव के दृष्टिगत आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी ने पूरे विधि विधान एवं वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गोपाष्टमी पर्व के अवसर पर गौ-पूजन किया और फल, गुड़ तथा चना खिलाया।

निरीक्षण के दौरान गौशाला में 65 नर एवं 21 मादा गोवंश उपस्थित मिले। स्टॉक में पशुओं का चारा पर्याप्त मिला। जिलाधिकारी ने गोबर से कंपोस्ट खाद बनाने हेतु संयत्र स्थापित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गौशाला से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थों का आर्थिक उपयोग किया जाना अत्यंत आवश्यक है।


जिलाधिकारी ने गो-पालन के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर उन्होंने पशुपालकों से गो-वंशों को निराश्रित नहीं छोड़ने तथा उनके उपभोग के लिए हरा चारा दान करने का अनुरोध किया।

  जिलाधिकारी ने कहा कि पर्वो के इस देश में गोपाष्टमी पर्व धूमधाम से मनाये जाने की परम्परा है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गौमाता चारण लीला शुरू की थी। कार्तिक शुक्ल अष्टमी के दिन मां यशौदा ने भगवान कृष्ण को पहली बार गौमाता को चराने के लिए वन भेजा था। इस दिन गौमाता ग्वाल एवं भगवान कृष्ण का पूजन करने का महत्व है।
  इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, सीवीओ डा पीएन सिंह, ईओ रोहित सिंह, गोशाला के समस्त पदाधिकारी पशुपालन विभाग के अधिकारी एवं स्थानीय निवासी भी उपस्थित रहे।
spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर