डीएम एवं एसपी के साथ मण्डल रेल प्रबंधक ने की बैठक,जनपद में रेलवे से जुडी समस्याओं को लिया संज्ञान

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

रेलवे से जुडी जन समस्याओं के निस्तारण हेतु आज मण्डल रेल प्रबंधक वी के पंजियार की अध्यक्षता में जिलाधिकारी अमित किशोर, पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र के साथ व्यापारी एवं ट्रान्सपोर्टर के पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ विकास भवन के गांधी सभागार में एक आवश्यक बैठक सम्पन्न हुईं। इस दौरान जनपद में रेल से जुडी समस्याओं को उनके संज्ञान में लाया गया तथा जनप्रतिनिधियों के पत्रक को उन्हे दिया गया।


मण्डल रेल प्रबंधक श्री पंजियार ने आये सुझावों /समस्याओं पर सार्थक पहल किये जाने हेतु आश्वस्त किया। उन्होने आयी जन समस्याओं एवं आवश्यकताओं का सर्वे आये रेल अभियंताओं को करने एवं उसकी रिपोर्ट उपलब्ध कराये जाने को कहा, जिससे कि इस पर आवश्यक कार्यवाही करायी जा सके। उन्होने माल गोदाम शिफ्टिंग के लिये चकियवां ढाला के आगे इसके विस्तारिकरण के लिये सर्वे अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी एवं रेलवे के सहायक अभियंता आदर्श ऋषि श्रीवास्तव को संयुक्त रुप में किये जाने को कहा। रेलवे के जमीनो पर अविवादित अतिक्रमण को हटाये जाने एवं अतिक्रमण के ऐसे मामलें, जो न्यायालय मे विचाराधीन है, उसमें सबल पैरवी कराये जाने को कहा।

उन्होने कहा कि देवरिया में आने से काफी समस्याओ की जमीनी स्तर पर जानकारी मिली है, जिसके समाधान के लिये पहल किया जायेगा। अच्छा परिणाम निकलेगा।
जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि बैठक में जनपद के रेलवे से जुडी समस्याओ को लेकर मण्डल रेल प्रबंधक के साथ सार्थक चर्चा हुई। जनप्रतिनिधियों द्वारा अनेक समस्यायें लायी गयी। उन्होने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा जो भी समस्या लायी गयी है, आशा है कि उसका समाधान मण्डल रेल प्रबंधक द्वारा कराया जायेगा। उन्होने कहा कि कोरोना काल में लाखो की संख्या में लोग यहां आये, रेलवे का काफी अच्छा समन्वय रहा। रेलवे के जमीनो पर से अवैध अतिक्रमण हटे, उसका उपयोग कामर्शियल के रुप में हो तो काफी उपयोगी होगा। उन्होने यह भी कहा कि जनपद में रेलवे के जनहित से जुडे आवश्यकताओं के कार्यो को कराये जाने के लिये त्वरित आर्थिक विकास योजना, मनरेगा आदि योजनाओ से जो कार्य जिला प्रशासन से कराये जाने के लिये रेलवें द्वारा प्रस्तावित किया जायेगा, उसमें अवश्य ही आवश्यकतानुसार भागीदारी निभायी जायेगी। उन्होने कहा कि रेलवे कैम्पस में सामुदायिक शौचालय बनवाये जाने के लिये रेलवे द्वारा यदि जमीन की अनुमति मिले तो नगरपालिका द्वारा जनसुविधाओं के दृष्टिगत सामुदायिक शौचालय बनाया जायेगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि चकियवां ढाला से देवरिया बाइपास सोनूघाट से जुडने में काफी सुविधाजनक है। यदि वैकल्पिक रुप में मालगोदाम बने तो शहर में भी जाम की समस्या दूर होगी। इस दौरान लगभग 4-5 जगहो पर अन्डरपास बनाये जाने की आवश्यकता जतायी गयी।
पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र ने कहा कि इस तरह की बैठक की शुरुआत काफी अच्छी है, इसे जमीन स्तर पर समस्याओ से मण्डल रेल प्रबंधक अवगत हुए और यदि रेलेव से अतिक्रमण हटे, उस पर वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बने तथा मालगोदाम शिफ्ट हो तो इससे रेलवे की आय व शहर की खुबसूरती बढेगी।
सदर सांसद प्रतिनिधि/पूर्व विधायक रविन्द्र प्रताप मल्ल ने सदर सांसद डा0रमापति राम त्रिपाठी के पत्रक को डीआरएम को दिया। उन्होने गौरी बाजार में अन्डर पास, रेलवे स्टेशन देवरिया के उत्तरी छोर पर टिकट काउन्टर को पुनः चालू कराये जाने सहित अनेको समस्याओं को रखा एवं जनहित में कराये जाने को कहा। उन्होने कहा कि मानवीय दृष्टिकोण से शिथिलता बरतते हुए कार्यो को कराया जाये जो जनहित में होगा।
सदर विधायक का मांगपत्र अजय उपाध्याय द्वारा प्रस्तुत किया गया, जिसमें प्रमुख रुप से मालगोदाम एवं पश्चिमी ओवर ब्रिज के नीचे के रेलवे क्रासिंग बन्द होने से जाम की समस्या को उल्लिखित करते हुए पश्चिमी ओवर ब्रिज के नीचे अन्डरपास बनाये जाने तथा माल गोदाम को शिफ्ट किये जाने की मांग सम्मिलित रहा। भाजपा जिलाध्यक्ष अन्त्र्यामी सिंह के पत्रक को अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुवंर पंकज ने पढ कर सुनाया एवं डीआरएम को दिया। इसके द्वारा भी प्रमुख रुप से मालगोदाम को शिफ्ट किये जाने, भटनी से इंटरसिटी एवं अयोध्या के लिये फास्ट पैसेन्जर ट्रैन, गोरखपुर से पटना के लिये ट्रेन, भटनी स्टेशन के वाशिंग शेड आदि से जुडे आवश्यकताओं को पत्रक के माध्यम से दिया गया।
इस अवसर पर शक्ति गुप्ता ने प्लेटफार्म नम्बर 4 का निर्माण कराये जाने, जेपी जायसवाल द्वारा बीआरडी पीजी कालेज के पास भी अन्डरपास की आवश्यकता बतायी गयी, यह भी कहा गया कि गोरखपुर ओवरब्रिज के नीचे चिरैया ढाला खुल जाता तो काफी सुविधा होती, जाम की समस्या से काफी हद तक निजात मिलता। ट्रान्सपोर्टर बन्धुओ, टीएसआई रामवृक्ष यादव, व्यापारिक बन्धुओं द्वारा मालगोदाम व ढाले पर लग रहे जाम से जुडी समस्याओं को प्रमुखता से रखते हुए इसके समाधान का अनुरोध किया गया। मालगोदाम को अहिल्यापुर स्टेशन पर स्थापित करने की बात रखी गयी।
प्रस्तुतिकरण द्वारा भी प्रमुख रुप से मालगोदाम सेें कसया ढाला पर जाम की स्थिति, रेलवे गोदाम में लगे ट्रको में लोडिंग/अनलोडिंग से गोदाम की धूलो से नागरिको के के स्वास्थ्य पर पडने वाले प्रतिकूल प्रभाव को भी प्रदर्शित किया गया। रेल गोदाम के प्रवेश द्वार से एक बार में एक ही ट्रक के प्रवेश व निकासी की वजह से जाम की स्थिति को तथा रेलवे गोदाम परिसर में आने वाले लोगो, वाहन चालको, पल्लेदारो आदि के लिये पेयजल की व्यवस्था एवं शौचालय का समुचित व्यवस्था न होने से गंदगी होने, स्टेशन के प्रवेश प्रांगण में सामुदायिक शौचालय बनाये जाने एवं कसया रेलवे ढाले पर लगने वाले जाम के निजात के लिये अंडरपास का निर्माण सहित मालगोदाम को अहिल्यापुर स्टेशन पर स्थानान्तरित किये जाने, रेलवे के अधिकार के क्षेत्र में दक्षिण दिशा वाली सडक का चैडीकरण, बीआरडी पीजी कालेज, औरा चौरी रेलवे स्टेशन के निकट एवं गौरी बाजार में अन्डरपास बनाये जाने की आवश्यकता जन सुविधाओं के दृष्टिगत प्रस्तुत किया गया। मण्डल रेल प्रबंध का स्वागत पुष्प गुच्छ प्रदान कर डीएम, सीडीओ, एडीएम प्रशासन एवं अन्य पदाधिकारियों ने प्रदान कर किया।
इस बैठक में सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन, सिनीयर डिविजन अभियंता रेलवे जैनेन्द्र कुमार सिंह, एआरटीओ राजीव चतुर्वेदी, डीआईओएस, अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी कमल किशोर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी एसएस राय सहित व्यापार, ट्रान्सपोर्टर के पदाधिकारी प्रतिनिधि गण आदि उपस्थित रहे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here