डीएम की अध्यक्षता में जिला स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) समिति की बैठक संपन्न


देवरिया टाइम्स । जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में आज जिला स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) समिति, देवरिया की बैठक गूगल मीट के माध्यम से से सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा० ) फेज-2 अन्तर्गत 16335 व्यक्तिगत शौचालयों का सहायक विकास अधिकारी (पं० ) एवं खण्ड प्रेरक के माध्यम से सत्यापन कराया जाये

एवं जिन लाभार्थियों द्वारा धनराशि प्राप्त करने के उपरान्त भी शौचालय निर्माण नहीं कराया गया है, उनसे धनराशि वसूली की कार्यवाही की जाये। विगत 05 वर्षों में निर्मित व्यक्तिगत शौचालयों के सापेक्ष कितनी शिकायतें प्राप्त हुई प्राप्त शिकायतों के आधार पर कितनी शिकायतों की जांच हुई कितनी शिकायतें लम्बित हैं और जांच के उपरान्त क्या कार्यवाही की गयी। समस्त सहायक विकास अधिकारी (पं०) को 15 दिन के अन्दर यह बताने का निर्देश दिया गया कि उनके विकास खण्ड में कितनी ग्राम पंचायतें ऐसी हैं जिनमें व्यक्तिगत शौचालय निर्माण पर जन शिकायतें हैं और उनमें कार्यवाही की आवश्यकता है। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा० ) फेज-2 अन्तर्गत व्यक्तिगत शौचालय हेतु नये लाभार्थियों द्वारा भारत सरकार की वेबसाईट पर आनलाईन आवेदन की प्रक्रिया का समस्त विकास खण्ड मुख्यालयों तहसीलों, कलेक्ट्रेट, विकास भवन एवं जिला अस्पताल पर प्रचार-प्रसार कराया जाये।


जिलाधिकारी की अध्यक्षता वाले तहसील दिवस पर भी स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा० ) फेज-2 अन्तर्गत व्यक्तिगत शौचालय हेतु नये लाभार्थियों द्वारा भारत सरकार की वेबसाईट पर आनलाईन आवेदन की प्रक्रिया का प्रचार-प्रसार कराया जाय। यदि कोई व्यक्ति अपना आवेदन करने में असमर्थ है तो उसका आनलाईन आवेदन कराने की व्यवस्था की जाय। जिन सामुदायिक शौचालयों के निर्माण में सचिवों द्वारा धनराशि का दुरुपयोग किया गया है एवं सामुदायिक शौचालय पूर्ण हुए बिना ही समूहों को भुगतान किया गया है उन समूहों से धनराशि की वसूली की जाय। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा० ) फेज-2 के अन्तर्गत माडल ग्राम बनाने हेतु शासन द्वारा चयनित 67 ग्रामों में निर्माण कार्यों के पर्यवेक्षण हेतु नोडल अधिकारी नामित किया जायेगा।
जिलाधिकारी द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रा० ) के अन्तर्गत जो भी कार्यक्रम संचालित हैं। उनका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाय जिससे पारदर्शिता बनी रहें। वर्चुअल बैठक में सीडीओ रवींद्र कुमार, डीडीओ श्रवण कुमार, डीपीआरओ अविनाश कुमार सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर