जिलाधिकारी ने की विकास निर्माण कार्यो की समीक्षा, समयबद्धता व गुणवत्ता मानको के पालन का दिये निर्देश

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने रैकिंग वाले कार्य बिन्दुओं में किसी भी प्रकार की कोई कोताही नही बरतने का निर्देश प्रमुख रुप से संबंधित अधिकारियों को दिया है। कहा है कि जिन विभागो के वजह से जनपद की रैकिंग खराब होगी तो ऐसे विभागो/अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। इस लिये इस कार्य में विशेष रुप से अपना ध्यान दें और कार्यो /लक्ष्यों को पूरी तत्परता व मनोयोग से पूर्ण करें एवं इस माह में अवश्य ही सुधार लाये, ताकि जनपद की रैकिंग बेहतर रहे।


जिलाधिकारी श्री निरंजन विकास भवन के गांधी सभागार में विकास एवं निर्माण कार्यो एवं जिला पोषण समिति की बैठक के दौरान अधिकारियों को उक्त निर्देश दिए। उन्होने कहा कि कार्य परियोजनाओं को समयबद्धता के साथ सुनिश्चित कराये, जन कल्याणकारी योजनाओं को लाभ पात्र जनो तक प्राथमिकता के साथ पहुॅचायें, इसमें किसी प्रकार की कोई कोताही न बरतें।


जिलाधिकारी श्री निरंजन ने पोषण समिति की समीक्षा में कहा कि बाल विकास की संचालित इस योजना का मुख्य लक्ष्य बच्चों के कुपोषण को दूर करना है, इसके लिये सभी जुडे विभागों को आपसी समन्वय व तत्पता से कार्य करने की जरुरत है। उन्होने शहरी, विकास खंड बरहज एवं पथरदेवा के कार्य प्रगतियों पर असंतोष जताते हुए सुधार लाये जाने के लिये सचेत किया। उन्होने कहा कि जिन आंगनवडी केन्द्रो से कुपोषित बच्चो की शून्य स्थिति दर्शायी जाये, उन्हे नोटिस दे और कार्यवाही सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि सुपोषण दिवस के रुप में संचालित कार्यक्रमों के तहत डोर-टू-डोर सर्वे कर कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को बच्चो को स्वस्थ्य रखने के लिये क्या करना है-क्या नही करना है इसका भलिभांति जानकारी व परामर्श दिए जायें।


जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री द्वारा घोषित प्राथमिकता के कार्यो को समयबद्धता के साथ सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि सभी कार्य परियोजनाओं में गुणवत्ता मानकों का पालन होना चाहिये। उन्होने स्वास्थ्य विभाग के निर्माणाधीन स्वास्थ्य सामुदायिक केन्द्रो के कार्य परियोजनाओं के समीक्षा के तहत कार्यदायी संस्था को विशुनपुर कला एवं बरडिहा दलपत के कार्यो को माह अप्रैल में प्रत्येक दशा में पूर्ण किये जाने को कहा।
जिलाधिकारी श्री निरंजन कन्या सुमंगला योजना, कौशल विकास मिशन, पंचायत भवनो के निर्माण की स्थिति, त्वरित आर्थिक विकास योजना, क्रिटिकल गैप के कार्यो, 50 लाख से अधिक के निर्माण कार्यो कर परियोजनाओं, कृषि, पर्यटन, सिचाईं, बाढ, जल निगम, ग्रामोद्योग आदि विभागो के कार्यो की प्रगति समीक्षा की एवं जुडे अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। डीएसटीओ मनोज श्रीवास्तव द्वारा कार्य प्रगतियों का विवरण समीक्षा के लिये प्रस्तुत किया गया।


बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन, सीआरओ अमृत लाल बिन्द, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, डीडीओ श्रवण कुमार राय, पीडी संजय पाण्डेय, बीएसए संन्तोष राय, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, डीपीओ प्रभात कुमार, डीडीएजी डा ए के मिश्र, डीएसटीओ मृत्युजन्य चतुर्वेदी, डीसी मनरेगा गजेन्द्र त्रिपाठी, सीवीओ डा विकास साठे, जिला समाज कल्याण अधिकारी रामपाल यादव, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी नीरज अग्रवाल, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह, सीडीपीओ गण, सहित जुडे विभिन्न विभागो, कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।

विज्ञापन

Multiple Slideshows

विज्ञापन:

विज्ञापन:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here